Follow us:

कर्नाटक रैली के दौरान अमित शाह ने की राहुल गांधी की मिमिक्री, देखें वीडियो

नई दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज पीएनबी घोटाले के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करने को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार किया. शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार से पहले किसी और सरकार ने धोखाधड़ी मामलों में इतनी तेजी से और सख्त कार्रवाई नहीं की है. शाह ने बिदर में कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी की मिमिक्री की. बता दें, राहुल गांधी भी कर्नाटक में हैं. सोमवार को राहुल गांधी की मिमिक्री करते हुए सवाल किया कि क्यों वो प्रधानमंत्री से बार-बार सवाल कर रहे हैं कि उन्होंने पिछले 4 साल में क्या किया।

उन्होंने राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए कहा- 'राहुल बाबा प्रधानमंत्री मोदी से पूछ रहे हैं कि उन्होंने चार साल में क्या किया. वो बोलते हैं, मोदी जी बताओ आपने चार साल में क्या किया?' जिसके बाद जनता जोर-जोर से हंसने लगती है. भाषण को जारी करते हुए शाह कहते हैं- ''राहुल बाबा क्यों इतने चिल्ला रहे हो? आप हमें पूछ रहे हो कि मोदी जी ने चार साल में क्या किया? इस देश की जनता आपसे चार पीढ़ी का हिसाब मांग रही है।

भाजपा अध्यक्ष ने सिद्धरमैया सरकार को भी आड़े हाथ लेते हुए उस पर ‘‘तीन ‘डी’ धोखा, दादागीरी और डायनेस्टिक :परिवारवाद की: राजनीति का पालन करने का आरोप लगाया.’’ शाह ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई ने इस मामले में तुरंत कार्रवाई की शाह ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘मोदीजी सरकार से पहले ऐसी कोई सरकार नहीं रही जिसने अतीत में किसी धोखाधड़ी के खिलाफ तुरंत और सख्त कार्रवाई की हो.’’ उन्होंने यह जवाब गांधी द्वारा करोड़ों रूपयों के पीएनबी धेाखाधड़ी मामले में मोदी के खिलाफ टिप्पणियों से जुड़े सवाल पर दिया।

उत्तरी कर्नाटक के विजपुरा और बगलकोट जिलों में जनसभाओं के दौरान गांधी ने भ्रष्टाचार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था और सवाल किया था कि खुद को देश का चौकीदार बताने वाले मोदी ज्वैलर नीरव मोदी और उनके मामा मेहुल चौकसी से कथित रूप से जुड़े बैंक धोखाधड़ी मामले में ‘‘चुप’’ क्यों हैं. शाह ने कहा, ‘‘ :धन शोधन रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज करके: ईडी ने कार्रवाई की है।इससे पहले सीबीआई ने इस महीने की शुरुआत में प्राथमिकी दर्ज की थी.’’ शाह ने कहा भाजपा कर्नाटक में निश्चित रूप से अगली सरकार बनाने जा रही है क्योंकि सिद्धरमैया सरकार सभी मोर्चों पर ‘‘नाकाम’’ रही है।