Follow us:

हनीट्रैप मामला: अधिकारी से मांगे थे 3 करोड़, वीडियो के नाम पर युवतियां कर रही थी ब्लैकमेल

इंदौर/भोपाल। हनीट्रेप मामले में तरह तरह की चर्चाओं और राजनीतिक बयानबाजियों के बीच अधिकारी को ब्लैकमेल करने के मामले में इंदौर एसएसपी रुचिवर्धन मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई खुलासे किये हैं| एसएसपी ने बताया कि इस मामले में श्वेता जैन, आरती दयाल, मोनिका यादव सहित 5 युवतियों और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। भोपाल में इन युवतियों को गिरफ्तार कर इंदौर पुलिस को सौप दिया था। जहां उनसे लगातार पूछताछ की गई है|

पुलिस ने गुरुवार को महिलाओं का मेडिकल करवाया। आरोप है कि यह सभी अधिकारियों और व्यापारियों को हनीट्रैप के जरिए फंसाकर ब्लैकमेल करती हैं। इनके पास से 14 लाख से ज्यादा कैश और एक कार बरामद की गई है। इनके पास से मिले सीडी और लैपटॉप को जांच के लिए भेजा गया है। एसएसपी ने बताया पकड़ाए गए आरोपियों ने पहले और किन किन लोगों के साथ इस प्रकार की वारदातें कर ब्लैकमेल किया है, इस सम्बन्ध में पुलिस रिमांड लेकर विस्तृत पूछताछ की जायेगी| जब्त सामग्रियों को एसएफएल के लिए भेजा जाएगा| नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ब्लेक मेल करने की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर गिरफ्तारी की। एसएसपी ने बताया कि आरोपी महिलाएं वीडियो क्लिप व फोटो वायरल करने की धमकी दे रही थी | इंदौर क्राइम ब्रांच, पलासिया थाना पुलिस, एटीएस की मदद से इन्हें पहली किस्त देने के लिए इंदौर बुलाया गया | जहाँ ये ड्राइवर समेत काले रंग की क्रेटा कार में पहुंची जहाँ इन्हें रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया|

अधिकारी से मांगे थे 3 करोड़, वीडियो बनाकर कर रही थी ब्लैकमेल

एसएसपी ने बताया कि फरियादी ने 17 सितंबर को एक लिखित आवेदन दिया था जिसमें फरियादी के आवेदन पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरती दयाल को गिरफ्तार किया गया था। महिला के व्हाट्सएप कॉल और मैसेज से ब्लैकमेल करने की पूरी जानकारी मिली। उन्होंने बताया कि महिला ने अपनी टीम के साथ मिलकर फरियादी से 3 करोड़ रुपए की मांग की थी इसके बाद पलासिया थाने में महिला सरगना के विरुद्ध धारा 419, 420, 384 और 506 व 120 बी के तहत कार्रवाई की गई है। आरती को पकडऩे के लिए पुलिस ने जाल बिछाया जिसमें पहली किस्त 50 लाख लेने के लिए इंदौर बुलाया, जहां पर वह एक कार से पहुंची थी। इसी दौरान टीम ने महिला आरती दयाल निवासी सागर लैंडमार्क भोपाल, दूसरी आरोपी मोनिका यादव और तीसरा आरोपी ओमप्रकाश पोरी को हिरासत में लिया है। आरोपी ने खुलासा किया है कि साथी श्वेता जैन महिला ने करीब 8 माह पहले नगर निगम के अधिकारी से मिली थी जिनकी दिन की मुलाकात के बाद दोनों की परस्पर मोबाइल पर बात हुआ करती थी। आरती दयाल ने नगर निगम के अधिकारी को मुलाकात करने के लिए जोर दिया और जिसके बाद उसका एक वीडियो बनाकर उसे 3 करोड़ रुपए की मांग की वीडियो को वायरल करने की धमकी देने की बात भी कही थी। आरोपी की सहेली मोनिका यादव से पूछताछ में मालूम पड़ा कि वह बीएससी की पढ़ाई भोपाल से कर रही थी विगत 1 वर्ष से आरती को जानती थी प्रकरण में आरोपी मोनिका आरती दयाल के साथ उस समय इंदौर आई थी और उन्हें चुप कर नगर निगम अधिकारी का वीडियो बनाया था पुलिस अभी मामले की छानबीन कर रही है और इसमें जल्द और भी खुलासे हो सकते हैं।

भाजपा विधायक बृजेंद्र प्रताप ने दी सफाई

पुलिस ने बुधवार को भोपाल से एक महिला को हिरासत में लिया। यह महिला पन्ना के भाजपा विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह के बंगले में किराए से रहती है। इस मामले में सिंह ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने ब्रोकर के माध्यम से बंगले को एक तारीख को किराए पर दिया था। इसके बाद आज उन्हें पता चला कि उस महिला को गिरफ्तार किया गया है। ब्रोकर और कोई जैन परिवार क्या कर रहा था मुझको नहीं पता मैं निर्दोष हूं मेरे को बदनाम करने के लिए मेरा नाम उछाला जा रहा है | विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह के घर से लड़कियों की हनीट्रैप मामले में गिरफ्तारी के बाद प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है और विधायक की हर जगह हो रही बदनामी के बाद वे सफाई देने सामने आए हैं। वहीं पन्ना जिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष और विधायक की भाभी ने उनसे इस्तीफा मांगा है उन्होंने कहां प्रधानमंत्री यदि चरित्रवान है तो उन्हें तत्काल बृजेंद्र प्रताप सिंह से इस्तीफा ले लेना चाहिए।

गृहमंत्री बोले कोई भी आरोपी बचेगा नहीं

इस मामले में गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा कि यह बड़ी कार्रवाई है। जांच की जा रही है| कोई भी अपराधी बच नहीं पाएगा। प्लान बनाकर लोगों को शिकार बनाते थे, वे सभी बेनकाब होंगे। भोपाल और इंदौर पुलिस मामले में जांच कर रही है। इसमें यदि अधिकारी, नेता जो भी हो पकड़े जाएंगे। पकड़ी गई महिलाएं नेता के घर में रह रही थीं। जांच के बाद ही हम नाम और पूरी जानकारी बताएंगे।

 

Related News