Follow us:

Career Tips : गूगल के अधिकारी के अनुसार ऐसा होना चाहिए Resume

गूगल के पूर्व सीनियर वाइस प्रेसीडेंट लेज्लो बॉक ने 20 हजार से ज्यादा रिज्यूमे की समीक्षा की जब वे कंपनी में थे। तब गूगल में प्रति सप्ताह 50 हजार से ज्यादा रिज्यूमे आते थे। इस अनुभव के आधार पर रिज्यूमे में होने वाली कुछ गलतियों पर यहां फोकस।

हर कोई नई नौकरी के लिए आकर्षक रिज्यूमे बनाना चाहता है। गूगल के पूर्व सीनियर वाइस प्रेसीडेंट ऑफ पीपल्स ऑपरेशंस लेज्लो बॉक मानते हैं कि यह नौकरी दिलाने में सबसे अहम पायदान होती है। उन्होंने खुद भी नौकरियों के लिए कई बार रिज्यूमे भेजे हैं। रिज्यूमे को लेकर उनके व्यापक अनुभव के बूते पर वहकहते हैं कि चुने जाने वाले रिज्यूमे में कुछ खास बातें होती हैं। गूगल में बिताए 15 वर्षों के समय में उन्होंने कुल 20 हजार से ज्यादा रिज्यूमे खुद देखे। उन्हें कुछ बेहद आकर्षक रिज्यूमे भी देखने को मिले। उन्होंने इनमें कुछ सामान्य गलतियां भी देखीं जिन्हें कई उम्मीदवारों ने बार-बार दोहराया था। आइए देखें कि वे किन गलतियों से बचने के लिए कहते हैं।

1- फॉर्मेट बेहतर हो

अस्त-व्यस्त और गिचपिच रिज्यूमे से आपको कोई फायदा नहीं होगा। रिज्यूमे का फॉर्मेट स्पष्ट और सुव्यवस्थित होना चाहिए। हाशिया जरूर छोड़ा जाना चाहिए। इसके अलावा दो अलग-अलग जानकारियों के बीच पर्याप्त जगह भी छोड़ी जानी चाहिए जो पूरे रिज्यूमे में एक जैसी हो। आपका नाम और संपर्क नंबर हर पेज पर होना चाहिए। अगर आप ईमेल के जरिए किसी को रिज्यूमे भेज रहे हैं तो उसे पीडीएफ रूप में अवश्य सुरक्षित रखें।

2- गोपनीय जानकारी

नियोक्ता की नीति और आपकी जरूरत के बारे में स्पष्ट रूप से उल्लेख करना चाहिए। उदाहरण केलिए अगर कोई व्यक्ति कसंल्टिंग फर्म से आ रहा है तो वह किसी भी हाल में अपने क्लाइंट के नाम को बाहर जाहिर न करे, इसका ध्यान रखा जाना चाहिए। पहली नौकरी की गोपनीय सूचनाओं को सुरक्षित रखकर ही आप नई जगह विश्वास जीत सकते है।

गलतियों से बचें

रिज्यूमे को कई बार बारीकी से पढ़ना चाहिए ताकि उसमें कोई भी गलती ना रहे। अपने रिज्यूमे को मित्र और सहपाठी को भी पढ़वाना चाहिए ताकि गलतियां दूर हो सकें। 'करियरबिल्डर सर्वे' के अनुसार 58 प्रतिशत रिज्यूमे में स्पेलिंग की गलतियां होती हैं। ग्रामर की गलतियां जैसी चीजों से बचने का हर संभव प्रयास होना चाहिए। इसका मतलब यही होता है कि एचआर मैनेजर अंदाज लगाता है कि आप चीजों को कितनी गंभीरता से लेते हैं।

बहुत ज्यादा लंबा न हो

बॉक कहते हैं कि अगर आपने दस वर्ष काम किया है तो आप रिज्यूमे में एक अतिरिक्त पेज जोड़ सकते हैं। रिज्यूमे आप इसलिए देते हैं ताकि आपको नौकरी के इंटरव्यू के लिए बुलाया जाए। इसे संक्षेप रखने में ही समझदारी है। संक्षेप में सबसे महत्वपूर्ण जानकारी ही अच्छे रिज्यूमे की पहचान है।

झूठ कभी नहीं टिकेंगे

कुछ लोग अपने रिज्यूमे कोबेहतर बनाने के लिए उसमें कुछ झूठ भी उल्लेखित कर देते हैं। रिक्रूटमेंट के दौरान आपके ये झूठ चल सकते हैं लेकिन जब ये उजागर होते हैं तो आपकी प्रतिष्ठा को इनसे नुकसान ही पहुंचता है। इसके अलावा झूठ बोलने को किसी भी कंपनी में बहुत अच्छी नजर से नहीं देखा जाता है। रिज्यूमे में झूठ बोलने के कारण सीईओ तक को नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है