Follow us:

चिन्मयानंद पर लगे आरोपों के कारण संत समाज की छवि हुई खराब- अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद

प्रयागराज। छात्रा के यौन उत्पीड़न के आरोप में जेल भेजे गए स्वामी चिन्मयानंद की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. जेल जाने के बाद संत समाज भी अब उनसे दूरी बनाने लगा है. साधू संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने संतों की जमात से चिन्मयानंद को दूर रखने का फैसला किया है.

कोर्ट से क्लीन चिट मिलने तक साधू संत उनका बहिष्कार करेंगे. चिन्मयानंद को संत समाज से बहिष्कृत करने का औपचारिक एलान दस अक्टूबर को हरिद्वार में होने वाली अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक में किया जाएगा. हालांकि औपचारिक एलान से पहले ही पदाधिकारियों ने उनके बहिष्कार का फैसला ले लिया है.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का कहना है कि चिन्मयानंद पर शर्मनाक आरोप लगे हैं. उन पर लगे आरोपों की वजह से समूचे संत समाज की छवि धूमिल हुई है. उन्होंने जो किया है, उन्हें उसकी सज़ा भुगतनी ही पड़ेगी.

हालांकि महंत नरेंद्र गिरि ने इस मामले में किसी साजिश की आशंका भी जताई है. उनका कहना है कि चिन्मयानंद को ब्लैकमेल कर उनसे पैसे वसूलने का जो वीडियो वायरल हुआ है, उस मामले में शिकायत दर्ज कराने वाली छात्रा के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए.

उनके मुताबिक़ छात्रा के साथ जो गलत हुआ उसकी सज़ा चिन्मयानन्द को मिल रही है, लेकिन अगर उनके साथ गलत हुआ है तो उस मामले में भी सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

 

Related News