Follow us:

सीलिंग पर सियासत, केजरीवाल के घर सर्वदलीय बैठक जारी, बीजेपी का बहिष्कार

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में सीलिंग का मुद्दा गरमता जा रहा है. व्यापारियों के दिल्ली बंद के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने आवास पर सर्वदलीय बैठक कर रहे हैं. इस बैठक का भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने बहिष्कार किया है। वहीं कांग्रेस की तरफ से मीटिंग में दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन और अरविंदर सिंह लवली मौजूद हैं। बैठक में सीलिंग रोके जाने के उपायों पर चर्चा हो रही है.


आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी और अजय माकन को चिट्ठी लिख कर कहा था कि सबको राजनीति से ऊपर उठना चाहिए और सीलिंग की वजह से आ रही समस्याओं का समाधान मिलकर निकालना चाहिए।


उन्होंने यह भी कहा था कि बैठक में हर दल से तीन लोगों से अधिक नहीं होने चाहिए ताकि बैठक सुगमता से चल सके. बताते चलें कि विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने जनवरी में केजरीवाल पर आरोप लगाए थे. अपने आरोपों में उन्होंने कहा था कि आम आदमी पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल के घर पर बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों के साथ बदसलूकी की थी।


ANI

@ANI

Delhi CM Arvind Kejriwal convenes a meeting at his residence over the issue of sealing. Ajay Maken & Arvinder Singh Lovely from Congress present. BJP's Manoj Tiwari was also invited but BJP members did not attend meeting.

12:20 PM - Mar 13, 2018







गुप्ता ने कहा था कि उनके साथ बदसलूकी तक की गई थी जब वे सीलिंग अभियान से प्रभावित कारोबारियों को राहत देने के बारे में बातचीत करने वहां गये थे. इस सिलसिले में कुछ आप विधायकों पर मामला दर्ज किया गया था.


सीलिंग के विरोध में आज दिल्ली में बाजार बंद


व्यापारियों के संगठन कैट ने दिल्ली में चल रही सीलिंग की कार्रवाई के विरोध में आज दिल्ली के सभी बाजार बंद करने का आह्वान किया है. व्यापारी दुकानें बंद कर जगह-जगह विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। कैट ने कहा है कि यह सीलिंग एकतरफा, अन्यायपूर्ण और अवैध है.


कैट का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश की आड़ में दिल्ली नगर निगम अधिनियम-1957 के मूलभूत प्रावधानों को ताक पर रख कर इसे अंजाम दिया जा रहा है, जिसे जायज नहीं ठहराया जा सकता. इसलिए विरोध स्वरुप दिल्ली के व्यापारी आज बाजार बंद रखेंगे और सिविल सेंटर का घेराव भी करेंगे।