Follow us:

अमरनाथ यात्रा : दो दिन बाद जम्मू से रवाना हुआ जत्था

जम्मू। अमरनाथ यात्रा पर खराब मौसम का असर पड़ रहा है, लेकिन यात्रियों के साथ ही पुलिस-प्रशासन और सेना का उत्साह कम नहीं हुआ है। जैस ही मौसम सुधरता है, यात्रा बहाल कर दी जाती है।

शनिवार सुबह ऐसा ही हुआ। दो दिनों के बाद फिर से जम्मू से बाबा अमरनाथ की यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का जत्था रवाना हुआ। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 2203 श्रद्धालुओं का जत्था सुबह करीब पांच बजे अमरनाथ यात्रा के आधार शिविर भगवती नगर से रवाना हुआ।

बालटाल मार्ग पर पस्सियां गिरने के कारण सिर्फ पहलगाम मार्ग से यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं को ही छोड़ा गया। बालटाल के लिए सिर्फ उन्हीं श्रद्धालुआें को जाने दिया गया जो कि हेलीकाप्टर से यात्रा करने वाले हैं। कुल 51 वाहनों के काफिले में श्रद्धालु रवाना हुए।

पहलगाम और बालटाल में मौसम खराब होने के कारण जम्मू से भी दो दिनों तक यात्रा को रोके रखा गया था। कुल ग्यारह दिनों में यह आठवां जत्था रवाना हुआ है। अधिकारियों के अनुसार बालटाल के लिए श्रद्धालुओं को उसी समय छोड़ा जाएगा जब यात्रा मार्ग की समीक्षा कर उसे सुरक्षित घोषित किया जाएगा।

गौरतलब है कि शुक्रवार को बालटाल से रवाना हुए कई श्रद्धालुओं को यात्रा मार्ग सही न होने के कारण वायु सेना के हेलीकाप्टरों से सुरक्षित आधार शिविर बालटाल में लाया गया था। इसी तरह कई श्रद्धालु पैदल ही वापस आ गए थे। वहीं दूसरी ओर देश भर से श्रद्धालुओं का जम्मू में पहुंचना अभी जारी है। श्रद्धालुओं को आधार शिविर भगवती नगर के अलावा जम्मू की विभिन्न धर्मशालाओं में ठहराया जा रहा है।

सिर्फ सरकारी बसों को जाने दिया - जत्थे में सिर्फ राज्य पथ्ज्ञ परिवाहन निगम की बसों को ही जाने दिया। किसी भी निजी बस या छोटे वाहन को जत्थे में नहीं जाने दिया। इससे श्रद्धालुओं में रोष उत्पन्न हुआ और उन्होंने आधार शिविर में प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया। उनका आरोप था कि वे दो दिनों से भगवती नगर में हैं और उन्हें प्रशासन नहीं जाने दे रहा है। उन्होंने नारेबाजी भी कह। प्रदर्शन कर रहे श्रद्धालुओं को समझाने के लिए मौके पर सुपरिटेंडेंट आफ पुलिस, डिप्टी सुपरिटेंडेंट आफ पुलिस पहुंचे और उन्होंने उन्हें शांत कर वापस भेजा।

नगरोटा में रोके श्रद्धालु - कई श्रद्धालु अपने निजी वाहनों में जत्थे के बगैर ही पहलगाम के लिए रवाना हो रहे थे। जैसे ही यह श्रद्धालु जम्मू के बाहरी क्षेत्र नगरोटा में पहुंचे, उन्हें पुलिस ने रोक लिया। नाराज श्रद्धालुओं ने नगरोटा में भी पुलिस आैर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। मगर पुलिस ने उन्हें आगे नहीं जाने दिया और वापस जम्मू भेज दिया। इससे देश भर से आए श्रद्धालुओं में रोष देखने को मिला।

नहीं रवाना हुए साधु - दो दिन बाद अमरनाथ के लिए जत्था जरूर रवाना हुआ लेकिन साधुओं को नहीं भेजा गया। साधु राममंदिर और गीता भवन में ठहरे हुए हैं। इससे साधुओं में भी रोष देखने को मिला।