Follow us:

World Boxing Championships: अमित पंघाल ने रचा इतिहास, वर्ल्ड बॉक्सिंग के फाइनल में पहुंचे

एकातेरिनबर्ग। अमित पंघाल ने शुक्रवार को इतिहास रच दिया जब वे वर्ल्ड मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज बन गए। अमित ने 52 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के साकेन बिबोसिनोव को हराकर खिताबी मुकाबले में जगह बनाई। अब शनिवार को उनका मुकाबला उज्बेकिस्तान के शाखोबिदिन जोईरोव से होगा। भारत के मनीष कौशिक को सेमीफाइनल में हार के साथ ही कांस्य पदक पर संतोष करना पड़ा।

दूसरे क्रम के अमित ने सेमीफाइनल में साकेन को 3-2 से हराया। एशियन चैंपियन अमित के पक्ष में जजेस ने 27-30, 29-28, 28-29, 28-29, 29-28 से फैसला सुनाया। अमित ने 2017 में 49 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता था और उसके बाद से वे सुर्खियों में आए थे। वे उसी साल वर्ल्ड मुक्केबाजी चैंपियनशिप के क्वार्टरफाइनल में पहुंचे थे। वे 2018 में एशियन चैंपियन बने थे। वे इस साल एशियन चैंपियनशिप जीत चुके हैं। वे 49 किग्रा के हटाए जाने की वजह से 52 किग्रा वर्ग में शिफ्ट हुए हैं। ऐसा इसलिए किया गया ताकि 2020 टोक्यो ओलिंपिक में महिला वर्ग के ज्यादा वजन समूहों को समायोजित किया जा सके।

मनीष को 63 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में शीर्ष वरीयता प्राप्त क्यूबा के एंडी क्रूज गोमेज के हाथों 2-5 से हार का सामना करना पड़ा।

भारत के लिए यह वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप का सबसे सफल संस्करण साबित हो रहा है। इससे पहले उसने चार बार अलग-अलग कांस्य पदक जीते थे। इस बार भारत को दो पदक मिलना तय है। मनीष कांस्य पदक जीत चुके हैं जबकि अमित स्वर्ण या रजत पदक में से पदक हासिल करेंगे। इससे पहले विजेंदर सिंह (2009), विकास कृष्णन (2011), शिवा थापा (2015) और गौरव बिदूरी (2019) वर्ल्ड चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीत चुके हैं।

Related News