Follow us:

अमृतसर रेल हादसा 2018 : एक साल बाद मृतकों के परिजनों ने निकाला मार्च, कहा - 'अब तक नहीं मिला न्याय'

अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में साल 2018 का दशहरा मातम लेकर आया था। यहां रावण दहन के मौके पर रेल पटरी पर खड़े होकर रावण दहन देखने की कोशिश कर रहे लोग अमृतसर ट्रेन की चपेट में आ गए थे। इस हादसे में कई लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में अब तक मृतकों के परिजनों को न्याय नहीं मिला है। यही वजह है कि आज मृतकों के परिजनों द्वारा प्रदर्शन करते हुए मार्च निकाला गया। परिजनों का कहना है कि 'इस हादसे को एक साल गुजर चुका है, लेकिन अब तक हम लोगों को न्याय का इंतजार है। इसिलए हम लोगों ने तय किया है कि सभी लोग रेलवे ट्रैक पर बैठकर धरना देंगे। हम लोगों एक साल में ऑफिसों के कई चक्कर काट चुके हैं।'

Image

Image

मृतकों के परिजनों द्वारा रेलवे ट्रैक पर बैठकर प्रदर्शन करने की खबर लगते ही हड़कंप मच गया है। वहीं अमृतसर के डीसीपी जगमोहन सिंह का कहना है कि 'हमने इस बारे में रेलवे अथॉरिटीज को जानकारी दे दी है। हमारी फोर्स वहां तैनात हो गई हैं। अगर वे लोग रेलवे ट्रैक पर जाने की कोशिश करते हैं तो जीआरपी के ड्यूटी ऑफिसर्स उन्हें ऐसा करने से रोकेंगे।'

ऐसे हुआ था हादसा

19 अक्टूबर 2018 का दिन आज भी कई लोगों के जेहन में तरोताजा है। जब लोग जौड़ा फाटक गेट के पास ट्रैक पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे। इसी दौरान तेज रफ्तार ट्रेन उन्हें चपेट में लेते हुए गुजर गई। इसके बाद मची चीख पुकार ने पूरे क्षेत्र को दहला दिया था। इस हादसे में 59 लोगों की मौत हो गई थी।

Image

इस हादसे को पूरा एक बरस गुजर चुका है। मृतकों के परिजन न्याय मिलने की आस में एक साल से भटक रहे हैं, लेकिन आज तक उन्हें इसका सिर्फ इंतजार ही है। यही वजह है कि आज परिजन बड़ा प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं।

 

 

Related News