Follow us:

पाकिस्तान में ईसाई लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया, पिछले दो हफ्ते में तीसरी घटना

पीड़िता को सरकारी स्कूल का एक शिक्षक मदरसा लेकर गया, वहां जबरन मुस्लिम धर्म कबूल करवाया

इससे पहले लाहौर में एक सिख और सिंध प्रांत की एक हिंदू लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया था

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक स्कूल शिक्षक ने एक 15 वर्षीय ईसाई लड़की का कथित तौर पर जबरन धर्म परिवर्तन कराया। पिछले दो हफ्ते में यह तीसरी घटना है जब किसी लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत ने शनिवार को ट्वीट कर घटना की जानकारी दी।

फैज मुख्तार नाम की लड़की शेखपुरा के एक सरकारी स्कूल में पढ़ती थी। उसके स्कूल का एक शिक्षक फैज को मदरसा लेकर आया और वहां जबरन उसको मुस्लिम धर्म कबूल कराया गया। नायला के मुताबिक, शिक्षक ने कहा कि मुस्लिम बनने के बाद पीड़िता अपने घर नहीं जा सकती है।

शिक्षक लड़कियों को अरबी पढ़ाता है

नायला ने कहा, लड़की के परिजन का भी कथित तौर पर जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। स्कूल का शिक्षक लड़कियों को अरबी पढ़ाता था। नायला ने ट्वीट किया, “पाकिस्तान में एक अन्य लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन। लड़की के माता-पिता का कहना है कि उसे एक मदरसा ले जाया गया और उसका धर्म परिवर्तन कराया गया। अब इस गरीब परिवार को भी धर्म परिवर्तन करा दिया गया।”

बंदूक की नोक पर सिख लड़की को अगवा किया था

पिछले 10 दिन में यह तीसरी घटना है जब किसी अल्पसंख्यक समुदाय के लड़की का कथित तौर पर मुस्लिम में धर्म परिवर्तन कराया गया। इससे पहले, 27 अगस्त को कट्टरपंथियों ने लाहौर में एक सिख लड़की जगजीत कौर (19) को अगवाकर जबरन धर्म परिवर्तन कराया था। वह गुरूद्वारा तम्बू साहिब के ग्रंथी की बेटी थी। इसके बाद 2 सितंबर को सिंध प्रांत की एक हिंदू छात्रा रेणुका कुमारी का भी धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया था।

 

Related News