Follow us:

अरबाज ने कबूला, पिछले साल आईपीएल सट्‍टेबाजी में हारे 2.75 करोड़

मुंबई। अभिनेता अरबाज खान ने पुलिस के सामने कबूल कर लिया कि उन्होंने पिछले वर्ष आईपीएल की सट्‍टेबाजी में 2.75 करोड़ रुपए हारे थे।

आईपीएल में सट्टेबाजी में नाम आने के बाद बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान के भाई अरबाज खान शनिवार सुबह मुंबई क्राइम ब्रांच पहुंचे। इससे पहले शुक्रवार को मुंबई पुलिस ने अरबाज को समन भेजकर पूछताछ के लिए तलब किया था। एएनआई के ट्‍वीट के अनुसार अरबाज ने पुलिस के सामने पिछले वर्ष आईपीएल सट्‍टेबाजी की बात स्वीकारी। इस एजेंसी ने यह खबर सूत्रों के हवाले से प्रकाशित की, जिसके अनुसार अरबाज पिछले वर्ष आईपीएल की सट्‍टेबाजी में 2.75 करोड़ रुपए हारे। उन्होंने यह भी स्वीकारा कि वे पिछले 6 साल से आईपीएल के मैचों पर सट्‍टा लगा रहे थे, लेकिन इस साल वे इससे दूर रहे।

मुंबई पुलिस ने हाल ही में आईपीएल सट्‍टेबाजी का खुलासा किया था। इस दौरान पुलिस ने कई सटोरियों को गिरफ्तार किया। इनमें सोनू जालान भी शामिल है। ठाणे की एंटी एक्सटॉर्शन सेल (एईसी) ने शुक्रवार को अरबाज को इस मामले में समन जारी कर पूछताछ के लिए शनिवार को बुलाया था।

एईसी के प्रमुख प्रदीप शर्मा ने कहा, सोनू हाल ही में संपन्न टी20 टूर्नामेंट के दौरान कथित रूप से अरबाज के संपर्क में था। सोनू ने कई हस्तियों का पैसा आईपीएल सट्‍टेबाजी में लगाने की बात कबूली है। सूत्रों के अनुसार अरबाज ने पिछले साल टी20 सट्‍टेबाजी में कथित रूप से 2.83 करोड़ रुपए गंवाए। हम उसके बैंक खातों की जांच करना चाहते हैं।

ANI
@ANI
#FLASH: During interrogation actor Arbaaz Khan accepted that he had placed bets in IPL matches last year and had lost Rs 2.75 crore, say sources.
1:36 PM - Jun 2, 2018
168
139 people are talking about this

 

ठाणे पुलिस ने आईपीएल मैचों की सट्‍टेबाजी की सूचना मिलने पर 16 मई को एक दुकान पर छापा मारा था, ‍जहां से सोनू जालान को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के अनुसार जालान कई गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल था। उसने इसके लिए कई घर और ऑफिस ले रखे थे और इनके लिए वह 2 लाख रुपए किराया चुकाता था।

अच्छे दोस्त : एईसी अधिकारी ने कहा, अरबाज खान और सोनू की मुलाकात चार साल पहले हुई थी और ये अच्छे दोस्त बन गए। इसके बाद जालान के सट्‍टेबाजी बिजनेस में खान जुड़ गए। ऐसा भी ज्ञात हुआ कि खान ने सट्‍टेबाजी में हारी हुई रकम भी जालान को नहीं दी।