Follow us:

हाथ पर ब्लेड से सॉरी लिखकर लगा ली फांसी, कमरे में मिली शराब की बॉटल और नमकीन

बैतूल। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने के लिए बैतूल में रह रहे एक युवक ने सोमवार-मंगलवार की रात अपनी जान दे दी। युवक ने अपने हाथ पर ब्लेड से सॉरी लिखा और उसके बाद फांसी लगा ली। देर रात जब उसके साथ रहने वाला दोस्त कमरे पर लौटा, तब घटना की जानकारी लगी।

कोतवाली पुलिस के मुताबिक मुलताई थाना क्षेत्र के ग्राम काजली बिसनूर निवासी धर्मेंद्र पिता धनराज बानखेड़े(28) वर्तमान में बैतूल के चंद्रशेखर वार्ड टिकारी में शोभासिंह कुशवाह के मकान में किराए से रह रहा था। उसके साथ आठनेर के मांडवी निवासी चंदू नरवरे भी रहता है। जो बैतूल जिला अस्पताल में सुरक्षाकर्मी के पद पर पदस्थ है। इनमें से धर्मेंद्र ने बीती रात फांसी लगा ली।

चंदू ने पुलिस को बताया कि 31 दिसंबर की रात करीब 10 बजे वह अपनी ड्यूटी से जब कमरे पर लौटा, तो दरवाजा भीतर से बंद था। काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बाद भी धर्मेंद्र ने दरवाजा नहीं खोला। फिर धर्मेंद्र के मोबाइल पर कॉल किया, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। शंका होने पर पड़ोसियों को एकत्रित किया। फिर पड़ोसियों की मदद से कमरे की खिड़की पर चढ़कर देखा तो धर्मेंद्र फांसी पर लटका हुआ था। उसने टीन शेड के पाइप में रस्सी बांधकर फांसी लगाई थी। तत्काल डायल 100 को सूचना दी। पुलिस मौके पर आई और दरवाजे की कुंडी के पास ड्रिल से छेद कराकर दरवाजा खोला। फिर धर्मेंद्र का शव जिला अस्पताल पहुंचाया।

पुलिस के मुताबिक कमरे में शराब की एक बोतल और नमकीन रखा था। उसके हाथ पर ब्लेड से काटकर सॉरी लिखा पाया गया। वहां से खून रिसकर ठंड के कारण जम गया था। पुलिस का अनुमान है कि धर्मेंद्र ने रात 9 से 10 बजे के बीच ही खुदकुशी की है, क्योंकि घाव ताजा लग रहा था। घटना के पहले उसने शराब भी पी थी। कमरे में फिलहाल कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। उसके परिजनों को बुला लिया गया था। शव का पोस्टमार्टम कराकर उन्हें सौंप दिया। मर्ग कायम कर जांच की जा रही है।

खंगालेंगे कॉल डिटेल

युवक ने अपने हाथ पर सॉरी क्यों लिखा है, इसका पता अभी नहीं चल पाया है। उसके मोबाइल की कॉल डिटेल खंगाली जाएगी, ताकि आत्महत्या के कारणों का कुछ खुलासा हो सके- अनिल पुरोहित, टीआई कोतवाली बैतूल