Follow us:

Bhopal Minor Murder Case : पहले मासूम का मुंह दबाकर की हत्या, फिर किया दुष्कर्म

भोपाल। राजधानी में 10 साल की बच्ची की हत्या व दुष्कर्म की घटना दिल दहला देने वाली है। आरोपित ने पूरी तरह सोच-समझकर घटना को अंजाम दिया। मासूम बच्ची के दुकान से गुटखा लेकर लौटने ही वह उसे मुंह दबाकर झुग्गी के अंदर ले गया। जहां उसने इतनी बेदर्दी से उसका मुंह दबा दिया कि बच्ची की मौत हो गई। इसके बाद आरोपित ने बच्ची के शव के हाथ बांध दिए और फिर दुष्कर्म किया।

हैवानियत के बाद वह झुग्गी का दरवाजा खोलकर बाहर ही बैठा रहा, ताकि किसी को शक न हो। इस घटनाक्रम का खुलासा आरोपित ने पुलिस के सामने किया। आरोपित विष्णु उर्फ बबलू को पुलिस ने सोमवार सुबह खंडवा जिले के मोरटक्का स्थित बस स्टैंड से गिरफ्तार किया था। पुलिस के अनुसार 48 घंटे में इस मामले का चालान कोर्ट में पेश कर दिया जाएगा।

48 घंटे में चालान पेश करने की तैयारी

भोपाल में बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म और हत्या की घटना को लेकर राज्य शासन ने पीड़ित परिवार को पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विधायक पद की शपथ लेने के बाद पत्रकारों से चर्चा में भोपाल की घटना में पीड़ित परिवार के लिए इस राशि का एलान किया। दूसरी तरफ जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने विधानसभा में पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि उज्जैन की घटना के पीड़ित परिवार को भी इतनी ही आर्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि 48 घंटे में प्रकरण में चालान पेश कर दिया जाए। साथ ही यह कोशिश की जाए कि आरोपितों को 30 दिन के भीतर अदालत से अपराध की सजा भी हो जाए।

पीसी शर्मा ने कहा कि बढ़ते अपराधों पर भाजपा को कांग्रेस सरकार के खिलाफ बोलने का अधिकार नहीं है, क्योंकि उनके शासनकाल में इसी शहर में कोचिंग से पढ़कर लौट रही बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई थी। तब सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की थी, जबकि कमलनाथ सरकार ने इस घटना में लापरवाही बरतने वाले सात पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की। गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा कि जिन मामलों में अदालत से सजा हो गई है, लेकिन सजा पर अमल नहीं हुआ है, उनका परीक्षण किया जाएगा।