Follow us:

बुराड़ी में 11 लोगों की मौत पर सस्पेंस खत्मः पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा, सभी की मौत लटकने से हुई

नई दिल्ली। दिल्ली के बुराड़ी में 11 लोगों की मौत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गई है और इससे इस मौतकांड के सस्पेंस पर विराम लगता नजर आ रहा है. बुराड़ी परिवार की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या का कोई जिक्र नहीं है. आज परिवार की मुखिया नारायणी देवी की भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है जिसमें साफ हुआ है कि उनकी मौत भी लटकने से हुई थी. इस तरह परिवार के 11 के 11 लोगों की फांसी लगाकर लटकने से मौत होने की पुष्टि हो गई है.

बुराड़ी के परिवार के 11 लोगों में से 10 के शव लटके हुए पाए गए थे और मुखिया नारायणी देवी का शरीर घर के अंदर के कमरे में बेड पर पाया गया था. इसके चलते ही उनकी हत्या की आशंका जताई जा रही थी लेकिन आज आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ये साफ हुआ है कि उनकी मौत भी फांसी लगकर ही हुई है.

इससे पहले 9 जुलाई को परिवार के 11 लोगों में से छह लोगों की मौत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी उनके लटकने से मौत की बात सामने आई थी. उसी दिन बुराड़ी में एक परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले में पुलिस ने तांत्रिक थ्योरी से इनकार कर दिया था. घर में मिली डायरी, पाइप आदि के आधार पर यह दावा किया जा रहा था कि 11 लोगों की मौत में धर्म का एंगल है और तांत्रिक ने सभी की मौत में भूमिका निभाई है. हालांकि पुलिस के मुताबिक, मौत में तांत्रिक की भूमिका नहीं है.

इससे पहले बताया जा रहा था कि दिल्ली पुलिस इस केस में साइकोलॉजिकल अटॉप्सी यानी मनोवैज्ञानिक पोस्टमॉर्टम भी करवा सकती है. भारत में इस तरह की वैज्ञानिक जांच बहुत कम मामलों में की गई है. साइकोलॉजिकल अटॉप्सी आत्महत्या के मामलों में किया जाता है. इस तरह की फारेंसिक जांच के पीछे जांचकर्ताओं का मकसद आत्महत्या करने वाले व्यक्ति के दिमाग के अन्दर के तथ्यों का पता लगाना होता है।

Related News