Follow us:

फांसी लगाकर दी थी कारोबारी की बेटी ने जान, ऐसे हुआ चौकाने वाला खुलासा

ग्वालियर। व्यापारी की बेटी को खुदकुशी के लिए विवश करने वाला उसका प्रेमी ही निकला है। प्रेमी को वीडियो कॉल कर छात्रा ने फांसी का फंदा गले में डाला था। जब तक दोस्त उसे बचाने पहुंचा तो उसकी मौत हो चुकी थी। घटना 27 जुलाई शाम 4 बजे दाल बाजार में हुई थी। पुलिन ने मृतका के परिजन के बयान और जांच के बाद आरोपित प्रेमी के खिलाफ खुदकुशी के लिए विवश करने का मामला दर्ज कर लिया है।

कोतवाली थानाक्षेत्र स्थित दाल बाजार निवासी व्यापारी अनिल कुमार जैन 27 जुलाई को गुरुपुर्णिमा के अवसर पर अपने गुरुधाम में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। घर पर उनकी 20 वर्षीय बेटी सृष्टि अकेली थी। इसी दिन शाम 4 बजे छात्रा को गंभीर हालत में उसका ही दोस्त दाल बाजार निवासी अर्पित पुत्र अजय कुमार जैन एक निजी अस्पताल लेकर पहुंचा था। यहां डॉक्टर ने छात्रा को मृत घोषित कर दिया और पुलिस को सूचना दे दी।

पुलिस मौके पर पहुंची तो अर्पित को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। उसने बताया कि छात्रा उसकी दोस्त है। वह उसे अपने साथ रहने के लिए कह रही थी। जब उसने मना किया तो उसने उसे वीडियो कॉल कर फांसी लगाते हुए दिखाना शुरू किया। उसे बचाने के लिए वह तत्काल छात्रा के घर पहुंचा और दरवाजा तोड़कर उसे बाहर निकाला। घटना के बाद मृतका के परिजन ने भी अर्पित पर बेटी को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। जिसके बाद पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू की।

मोबाइल की डिटेल व आरोप के बाद मामला दर्ज -

पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू की। छात्रा के मोबाइल की डिटेल निकाली, जिसमें ज्यादातर बातचीत अर्पित से ही हो रही थी। जिसमें कई ऐसे मैसेज मिले जिससे साफ था कि अर्पित ने उसे खुदकुशी करने के लिए विवश किया है। जिसके बाद पुलिस ने परिजन के बयान लिए और आरोपित अर्पित जैन पर खुदकुशी के लिए विवश करने का मामला दर्ज कर लिया है।