Follow us:

पश्चिम बंगाल : शटर गिराकर दुकान के अंदर चल रहा था PUBG का 'खेल', 2 दुकानदार गिरफ्तार

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना के काकीनाडा इलाके में पबजी (PUBG) सहित अन्य वीडियो गेम खेलने की होड़ में 12 बच्चों को रंगेहाथों पकड़ा गया. पुलिस ने दो दुकानदारों को गिरफ्तार कर लिया है. इस घटना को लेकर बताया जा रहा है कि ट्यूशन पढ़ने जाने की आड़ में बच्चे अनिल साउ नामक व्यक्ति की दुकान में घुस जाते थे. इलाके के लोगों का आरोप है कि इस दुकान में बिल्कुल अंधेरा छाया रहता था. शटर आधा गिरा दिया जाता था. ताकि किसी को कुछ पता न चल सके.

दुकानदार बच्चों के हाथों में मोबाइल पकड़ाकर धड़ल्ले से पबजी गेम और अन्य गेम खेलने का उन्हें मौका दे रहे थे. जिन बच्चों को घर में मोबाइल छूना भी मना था वही बच्चे इस दूकान में पहुंचकर वीडियो गेम खेलने के लिए भीड़ जमाते थे.

इलाके के लोगों को पता भी नहीं चल पाता था कि उनके बच्चे कहां पर हैं, क्यूंकि दुकान का शटर इस तरह से निचे कर रखा होता था कि भनक भी नहीं लग पाती थी. दुकान के बाहर भारी तादाद में साइकिल और चप्पलों को देख इलाके के लोगों को संदेह हुआ और उसके बाद शाम के समय दुकान के अंदर झांकते ही लोगों की नजरें फटी की फटी रह गई.

ADVERTISEMENT


POWERED BY PLAYSTREAM

 

बच्चों के माता-पिता ने देखा की दुकान के अंदर मौजूद खटिए के ऊपर 10 से 12 बच्चे मजे से पबजी गेम खेल रहे थे. लोगों ने तुरंत भाटपाड़ा पुलिस थाने को इसकी सूचना दी. पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया. घटनास्थल से 12 महंगे स्मार्टफोन बरामद किए गए. साथ में वाई-फाई राउटर समेत कई अन्य सामान बरामद किए गए हैं. बच्चों के माता पिता का कहना है कि बार-बार मना करने पर भी दुकानदार उन्हें खेलने के लिए बुलाता था. साथ ही उनका कहना है कि प्रशासन ने इंतजाम नहीं किए तो यह एक नशे की तरह फैल जाएगा.

अभिभावकों की शिकायत के बाद दुकान को बंद कर दिया गया. दुकानदार ने भी माना कि बच्चों को सुबह और शाम अपनी दूकान में खेलने के लिए मोबाइल फोन देता था. एक घंटे के दस रुपए चार्ज करता था. साथ ही आरोपी ने यह भी बताया कि उसने सेकंड हैंड मोबाइल ख़रीदे थे ताकि बच्चे गेम खेल सके.

Related News