Follow us:

MP Election 2018: खुद को सॉफ्टवेयर इंजीनियर बताकर EVM हैक करने का दावा, गिरफ्तार

ग्वालियर। 30 मिनट में स्ट्रॉन्ग रूम के अंदर पहुंचकर ईवीएम हैक कर अपनी डिवाइस के जरिए वोट बदलकर जिताने का भरोसा दिलाने वाले को स्टेशन बजरिया स्थित रेस्टोरेंट से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। युवक ने खुद को सॉफ्टवेयर इंजीनियर बताकर भिंड विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे को अपने झांसे में लेने का प्रयास किया था। लेकिन प्रत्याशी की समझदारी से पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

आरोपी सॉफ्टवेयर इंजीनियर तो दूर की बात दो बार परीक्षा देने के बाद भी 12वीं पास नहीं कर सका है। लेकिन दिमाग से बेहद शातिर है। उसने कांग्रेस प्रत्याशी से 2.5 लाख रुपए में एक ईवीएम हैक करने की डील की थी। उसका कहना था कि उसकी निर्वाचन आयोग और वहां पदस्थ एक अवर सचिव से गहरी पैठ है। इतना ही नहीं ग्वालियर ग्रामीण व दक्षिण में दो प्रत्याशी के लिए काम करने की बात भी बताई।

ऐसे आया ठग का कॉल

भिंड विधानसभा-10 के लिए कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे के पास 3 दिसंबर को अनजान नंबर (9140749859) से कॉल आया। कॉल करने वाले ने खुद का परिचय दिल्ली निवासी अजय सिंह के रूप में देते हुए कहा कि बीजेपी ने चुनाव में काफी गड़बड़ी की है। वह उनको जवाब देने के लिए ऐसे प्रत्याशियों से संपर्क कर रहा है जिनकी नेट टू नेट फाइट है। उसने कांग्रेस प्रत्याशी को कहा कि उनका एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर अभय जोशी निवासी लखनऊ इस समय ग्वालियर में काम कर रहा है। वह आपकी पूरी मदद करेगा। इसके बाद अजय ने अपने नंबर से अभय जोशी का मोबाइल नंबर मैसेज किया। इसके बाद अभय जोशी को कॉल इस नंबर (7389779092) से किया गया।

2.5 लाख में एक ईवीएम हैक, चाहे जितनी करा लो

अभय ने 4 दिसंबर को फिर कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे को कॉल किया। इस बार उसने बताया कि वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। उसकी निर्वाचन आयोग में अच्छी पकड़ है। पूरा खेल ऊपर से हो रहा है। एक अवर सचिव हमारा आदमी है। कांग्रेस प्रत्याशी ने पूछा कि स्ट्रॉन्ग रूम में घुसना तो नमुमकिन है। इस पर वह बोला कि निर्वाचन आयोग से पत्र आएगा। जिससे वह भिंड के स्ट्रॉन्ग रूम में दाखिल हो जाएगा। सिर्फ 30 मिनट में अपनी डिवाइस लगाकर ईवीएम को हैक कर लेगा। 2.5 लाख रुपए एक ईवीएम के लगेंगे जितने कहोगे वोट आपके फेवर में बदल दूंगा।

रेस्टोरेंट में बैठते ही पुलिस बुलाई, पकड़वाया

कांग्रेस प्रत्याशी को कॉल करने वाला पहले ही दिन से फ्रॉड लग रहा था। उन्होंने उससे मिलने के लिए ग्वालियर में समय तय किया। बुधवार दोपहर 2 बजे स्टेशन बजरिया स्थित एक रेस्टोरेंट में मिलना तय हुआ। इसके बाद उसको देखकर रमेश दुबे ने एसपी ग्वालियर नवनीत भसीन से संपर्क किया। एसपी ने तत्काल पुलिस फोर्स भेजा और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

यह निकला कॉल करने वाला अभय जोशी

जब आरोपी ठग को पकड़कर पुलिस पड़ाव थाना लाई तो पता लगा कि जो खुद को लखनऊ का सॉफ्टवेयर इंजीनियर अभय जोशी बता रहा था। असल में वह यूपी के जालौन स्थित ऊमरी का नीरज राठौर है, उसकी ससुराल भिंड में है। बीते एक महीने से वह ग्वालियर में रह रहा है। यहां उसकी पत्नी एक निजी स्कूल में शिक्षिका है।

ठगी का नया तरीका

आरोपी ने कबूल किया कि उसने ठगी करने के उद्देश्य से कांग्रेस प्रत्याशी से संपर्क किया था। उसने कुछ दिन पहले कांग्रेस प्रत्याशी के स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर धरना प्रदर्शन व ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप की खबरें पड़ी थीं। उसे लगा 11 दिसंबर मतगणना से पहले ठगने का यह सही मौका है। फिलहाल आरोपित से पूछताछ की जा रही है।

इनका कहना

एक युवक पकड़ा गया है जो ईवीएम को हैक करने का दावा कर भिंड विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी से संपर्क कर रहा था। पकड़ा गया युवक 12वीं फेल है। यह ईवीएम के बारे में कुछ भी नहीं जानता। फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है।

केएम गोस्वामी, सीएसपी

Related News