Follow us:

Surgical Strike पर सवाल उठाए थे इन नेताओं ने, आज रिलीज हुई फिल्म URI देगी जवाब

नई दिल्ली। साल 2016 में पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने निहत्थे सैनिकों पर कायराना हमला किया था। 18 सितंबर 2016 को आतंकियों के जम्‍मू-कश्‍मीर के उड़ी सेक्‍टर में हमले के विरोध में बीते 29 सितंबर 2016 को भारत ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) कर उसे आतंकवाद के खिलाफ मुंहतोड़ जवाब दिया था। Surgical Strike पर उस समय जमकर सियासत हुई थी। विपक्ष ने सवाल उठाते हुए इसे 'फर्जिकल स्‍ट्राइक' तक करार दिया था। कई बड़े राजनेताओं ने Surgical Strike पर सवाल खड़े किए थे।

URI: The Surgical Strike Movie Poster

सेना के इस ऑपरेशन पर सवाल उठाने वालों में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से लेकर बिहार में राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) नेता शिवानंद तिवारी तक शामिल थे। Surgical Strike पर सवाल उठाने वाले लोगों को URI: The Surgical Strike फिल्म के जरिए सेना के इस ऑपरेशन की हकीकत पता चल जाएगी। हालांकि, सर्जिकल स्‍ट्राइक का वीडियो पहले ही आलोचकों का मुंह बंद कर चुका है। Surgical Strike का वीडियो जारी होने के बाद सीमा पर शहीद सैनिकों के परिजनों ने कहा कि वीडियो से उनका कलेजा ठंडा हो गया। चलिए नजर डालते हैं सर्जिकल स्‍ट्राइक के कुछ प्रमुख आलोचकों पर...

अरविंद केजरीवाल
आतंकियों के खिलाफ भारतीय सेना की सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसकी आलोचना की थी। उन्‍होंने कार्रवाई पर सवाल खड़े करते हुए तीन मिनट का एक वीडियो जारी कर केंद्र सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगे थे। तब पाकिस्तानी मीडिया ने केजरीवाल के वीडियो को जमकर दिखाया था।

अरूण शौरी
पूर्व केंद्रीय मंत्री नेता अरुण शौरी ने सर्जिकल स्‍ट्राइक को लेकर सरकार पर निशाना साधा था। कांग्रेस नेता सैफ़ुद्दीन सोज़ की बुक लॉन्च के अवसर पर शौरी ने इसे 'फर्जिकल स्ट्राइक' बताया था।

शिवानंद तिवारी
बिहार में राजद नेता शिवानंद तिवारी ने केंद्र सरकार की जमकर आलोचना की। इस दौरान उन्‍होंने सर्जिकल स्‍ट्राइक पर भी सवाल उठाए। उन्‍होंने कहा कि हमारे सैनिक सीमा पर रोज मारे जा रहे हैं। 'सर्जिकल स्ट्राइक' फर्जिकल स्ट्राइक साबित हुआ है। उन्‍होंने मोदी सरकार को केवल डींग हाकने वालों की सरकार बताते हुए कहा कि इसके हाथों में देश सुरक्षित नहीं है।

दिग्‍विजय सिंह
कांग्रेस नेता व पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्‍विजय सिंह ने सर्जिकल स्‍ट्राइक को लेकर विवादित टिप्‍पणी की थी। उन्‍होंने कहा था कि पहले भी ऐसे ऑपरेशन होते रहे थे। लेकिन, अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह इसे लेकर हल्‍ला मचा रहे हैं

 

आलोचकों में ये भी रहे शामिल
पूर्व वित्तमंत्री पी चिदम्बरम व संजय निरूपम ने भी सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रश्नचिह्न लगाया था। आलोचकों की लिस्‍ट में और भी कई शामिल रहे हैं।

शहीद सैनिकों के परिजन बोले- कलेजा ठंडा हो गया
दूसरी ओर सीमा पर शहीद सैनिकों के परिजनों ने सर्जिकल स्‍ट्राइक को सही बताते हुए इसे वक्‍त की जरूरत करार दिया था। उन्‍होंने कहा कि भारतीय सेना दुश्‍मनों से अपना हिसाब जरूर चुकता करेगी। Surgical Strike का वीडियो जारी होने के बाद उन्‍होंने कहा कि सर्जिकल स्‍ट्राइक के वीडियो से कलेजा ठंडा हो गया।

सर्जिकल स्ट्राइक की सूचना पर उड़ी में शहीद हुए गया के सैनिक सुनील की पत्नी किरण ने संतोष जताया था। शहीद सुनील की बेटी आरती ने भी कहा था कि दुश्मन को जवाब मिलेगा तो वह फिर हमारी ओर देखने की हिम्मत नहीं करेगा। उड़ी के ही शहीद भोजपुर के अशोक कुमार सिंह की विधवा संगीता देवी ने भी कहा था कि देर से ही सही, सरकार ने सही कदम उठाया।

वीडियो जारी होने के बाद इन शहीदों के परिजनों ने फिर अपनी बात दोहराई। उन्‍होंने कहा कि आज उनका कलेजा ठंडा हो गया। साथ ही उन्‍होंने सर्जिकल स्‍ट्राइक पर सवाल खड़े करने वालों को देशभक्ति की नसीहत दी है।

क्या है फिल्म में
18 सितंबर 2016 को पाकिस्तान की तरफ से हुए आतंकी हमले में भारत के 19 जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद भारत ने पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। सर्जिकल स्टाइक में पाकिस्तान के 38 आतंकवादी मारे गए थे।

इस फिल्म (URI: THE SURGICAL STRIKE) में उड़ी हमले के बाद SURGICAL STRIKE की तैयारी को दिखाया गया है। इस फिल्म में उन हालात को भी दिखाया गया है, जिससे हमारे सैनिक उड़ी हमले के बाद गुजरे थे। फिल्म में SURGICAL STRIKE को बखूबी दर्शाया गया है। फिल्म में विकी कौशल और यामी गौतम मुख्य भूमिकाओं में हैं।

 

 

 

 

 

 

 

Related News