Follow us:

धार- टोल के समीप मांगों को लेकर नर्मदा बचाव आंदोलन के तहत किया प्रदर्शन, वाहनों की लगी लंबी लाईन, आला अधिकारी भी पहुंचे

धार-धामनोद। मंगलवार सुबह 11 बजे तक खलघाट टोल से रोजाना की तरह वाहनों का आवागमन सामान्य स्थिति में चल रहा था। तभी अचानक वहाँ नर्मदा बचाव आन्दोलन की महान नेत्री सुश्री मेघा पाटकर अपने कुछ कार्यकर्ताओं के साथ पहुँची और अन्य सैकड़ों समर्थकों के आने का इंतजार करने लगी। इस दौरान पुलिस भी वहाँ पहुँची और सुश्री पाटकर से चर्चा की तो बताया गया कि हमारा काफिला इंदौर नर्मदा कन्ट्रोल बोर्ड के अधिकारी से चर्चा के लिए जा रहे हैं साथियों का इंतजार कर रहे हैं। कायकर्ताओं का हुजुम एक कत्रित होने के बाद अचानक बिना किसी अनुमति के राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर वहीं धरना दे दिया। इस अचानक घटनाक्रम के मोड़ से पुलिस प्रशासन और अन्य जिम्मेदारों में हड़कम्प मच गया। मार्ग के जाम होने की सूचना जैसे ही प्रशासन के आला अधिकारियों को मिली तत्काल अतिरिक्त पुलिस बल अधिक मात्रा में भेजा गया। वहीं थाना प्रभारी मय दलबल के साथ मौके पर पहुँचे और मेघा पाटकर चर्चा की। एनसीए यानी नर्मदा कन्ट्रोल अथोरिटी, गुजरात सरकार एवं केन्द्र सरकार को घेरते हुए जमकर नारेबाजी की जिसमें होश में आओ होश में आओ। गुजरात और दिल्ली की दादागिरी नहीं चलेगी नहीं चलेगी। मध्यप्रदेश शासन हित में बात करो। गुजरात सरकार धोखा है धक्का मारो मौका है। हम सब एक हैं। हम सब अपना हक चाहते नहीं किसी से भीख मांगते। महिला शक्ति आई है नई रोशनी लाई है। जब जब महिला लड़ती है भगवान की कुर्सी हिलती है। जैसे अनेकों नारों के साथ बड़ी मात्रा में महिला शक्ति एवं नर्मदा बचाओ आंदोलन के कार्यकर्ताओं ने आंदोलन की नेत्री मेघा पाटकर के नेतृत्व में प्रदर्शन किया।

Related News