Follow us:

धार कलेक्टर ने 7 जनपदों के साईओं को कारण बताओ नोटिस किए जारी, मामला सीएम हेल्प लाईन की शिकायतों का निराकरण नहीं करने का

धार। कलेक्टर श्रीमन् शुक्ला ने 07 जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है। इनके द्वारा सीएम हेल्पलाईन पोर्टल पर लंबित शिकायतों के समय सीमा में नही करने का मामला है। जिन जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है, इनमें जनपद पंचायत धार के सीईओ एस.डी. माधवाचार्य, जनपद नालछा के बीएस मुवेल, जनपद सरदारपुर के प्रभात द्विवेदी, जनपद मनावर के एस.डी. माधवाचार्य, जनपद उमरबन के सुश्री रितु राय, जनपद धरमपुरी के बिकला सिसोदिया एवं जनपद पंचायत बदनावर के सीईओ श्री प्रदीप पाल षामिल है। 

कलेक्टर ने बताया कि इनके द्वारा सीएम हेल्पलाईन पोर्टल पर लंबित शिकायतों के तत्काल निराकरण हेतु जिला पंचायत धार द्वारा लिखित एवं दूरभाष, सोशल मीडिया वाट्सअप एवं विभिन्न बैठकों में निर्देशित किए जाने के उपरान्त भी शिकायतों के निराकरण हेतु आवश्यक कार्यवाही नही की जा रही है। उक्त लापरवाही के कारण जिले में अत्यधिक संख्या में शिकायते लंबित प्रदर्शित हो रही है। शिकायतों के सुक्ष्म परीक्षण में पाया गया कि वे स्वयं कभी भी शिकायतों को नही देखते है। केवल डाटा इन्ट्री आॅपरेटर एवं अधीनस्थ कर्मचारियों के द्वारा ही इस संबंध में कार्यवाही की जाकर इतिश्री की जा रही है। इस प्रकार मुख्यमंत्री जी की इस अति महत्वाकांक्षी योजना के क्रियान्वयन में गंभीर उदासीनता बरती जा रही है।
कलेक्टर ने बताया कि अधिकांश शिकायतों में इनके द्वारा लेवल-1 पर कोई कार्यवाही नही की जाती है, जिससे शिकायते अगले लेवल पर बिना निराकरण दर्ज हो जाती है। उक्त लापरवाही के फलस्वरूप शिकायतकर्ता की शिकायते/मांग का निराकरण नही होने के कारण वे जनसुनवाई, समाधान आॅन लाईन, पीएमओपीजी जनवाणी एवं अन्य माध्यम से शिकायत प्रेषित करते है, जिससे शिकायतों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है एवं प्रशासन के प्रति असंतोष बढ़ रहा है।
कलेक्टर ने संबंधितों को निर्देशित किया है कि वे उक्त स्थिति को शासन स्तर से गंभीरता से लिया जाकर संबंधित त्रृटिकर्ता अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्ध कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही हेतु करे। इस संबंध में सभी सीईओ को उक्त लंबित शिकायतों के निराकरण सहित अपना प्रतिउत्तर 25 अक्टूबर 2017 तक प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया है।