Follow us:

धार में कोर्ट ने ट्रेक्टर से टक्कर मारने वाले आरोपियों को सुनाई सजा

धार। न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्री महेन्द्र कुमार उईके ने ट्रेक्टर से टक्कर मारने वाले आरोपियों को सजा सुनाई है। मीडिया सेल प्रभारी बीएस बिलवाल, सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी जिला धार ने बताया कि में दिनांक 23.10.2014 को समय 10ः00 बजे स्थान ग्राम पिपल्दा पु.था. सादलपुर में बताया कि फरियादी सचिन खेत में ट्रेक्टर लेकर खेत बखरने गया था उसी समय आरोपी जितेन्द्र व चेतन ट्रेक्टर लेकर आए और फरियादी सचिन के ट्रेक्टर में टक्कर मार दी। फरियादी द्वारा इसका विरोध करने पर आरोपी चेतन व जितेन्द्र ने मां- बहन की अश्नील गालियां दी तथा ट्रेक्टर से लाठियां निकालकर फरियादी से मारपीट करना शुरू कर दी। जिससे सचिन को दाहिने कंधे व पीठ में चोंट आई तभी बाबूसिंह एवं मेहरबान सिंह आए एवं बाबूसिंह ने तलवार से सचिन को मारा जिससे सिर में चोंट लगी। फरियादी सचिन के पिता कल्याण तथा साक्षी सोनू, सतिष बीच-बचाव करने आए तो उनके साथ भी मारपीट की थी और जिससे उन्हें भी चोंटे आई थी। राधेष्याम व अलका ने सोनू व सतिष के साथ भी मारपीट की। उक्त घटना की रिपोर्ट आरोपीगण के विरूद्ध थाना सादलपुर में पंजीबद्ध करवाई थी और एवं आहतगण का इलाज कर संपूर्ण विवेचना उपरांत अभियोग-पत्र माननीय न्यायालय में पेष किया गया था। इस प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी सुश्री सपना मण्डलोई जिला धार द्वारा की गई।
इस प्रकार सुनाई सजा
कोर्ट ने अपराध क्रमांक 338/14 थाना सादलपुर में आरोपी बाबूसिंह, अलका, ज्योति, मुन्नी बाई, चेतन, जितेन्द्र सभी निवासी ग्राम पिपल्दा थाना सादलपुर एवं आरोपी राधेश्याम ग्राम कुंदरसी थाना सादलपुर जिला धार में आरोपी बाबूसिंह को धारा 323/34 भादवि में 6 माह तथा 500/- रू. अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 2-2 माह का अतिरिक्त कारावास, धारा 325/34 में 01 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 1000/- रू. अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 3-3 माह का कारावास, आरोपी जितेन्द्र को धारा 323 में 6 माह का कारावास एवं 500/- रू. अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 2-2 माह का अतिरिक्त कारावास, धारा 325/34 में 1 वर्ष का सश्रम कारावास व 1000/- अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 3-3 माह का कारावास, तथा आरोपी चेतन को धारा 323/34 में 6 माह का कारावास एवं 500/- रू. अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 2-2 माह का अतिरिक्त कारावास, धारा 325/34 में 1 वर्ष का सश्रम कारावास व 1000/- अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 3-3 माह का के कारावास, आरोपी मुन्नीबाई को धारा 323/34 में 6 माह का कारावास एवं 500/- रू. अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 2-2 माह का अतिरिक्त कारावास, धारा 325/34 में 1 वर्ष का सश्रम कारावास व 1000/- अर्थदण्ड, अर्थदण्ड अदा न करने पर 3-3 माह का के कारावास से दण्डित किया गया।

Related News