Follow us:

अंजन शलाका प्रतिष्ठा महोत्सव: धार- कल होगी 60 प्रतिमाओं की प्रतिष्ठा, विशाल वरघोडा निकला, रथ में विराजित थी भगवान की प्रतिमा

धार। भक्तामर तीर्थ पर चल रह रहे अंजन शलाका प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत 60 प्रतिमाओं को प्रतिष्ठत करने की तैयारी पूर्ण कर ली गई है। 11 फरवरी को ये प्रतिमाएं शुभ मुहूर्त में प्रतिष्ठित बेदी पर कर दी जाएगी। इसी कार्यक्रम के साथ इस दिन प्रतिष्ठा महोत्सव के मुख्य सभी कार्यक्रम संपन्न हो जाएंगे। रविवार को कार्यक्रम में शामिल होने व आचार्य श्री का आशीर्वाद लेने के लिए केबिनेट मंत्री सुरेंद्रसिंह बघेल भी पहुंचे, श्री बघेल ने मंदिर में दर्शन भी किए। वहीं मोहनखेड़ा ट्रस्ट के सुजानमल, संजय सराफ, दिलीप भंडारी भी पहुंचे।
नगर में निकला वरघोडा, जगह जगह स्वागत
प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत 10 फरवरी रविवार को नगर में वरघोडा रथ यात्रा निकाली गई। रथ यात्रा में महिलाएं केसरिया परिधान पहने सिर पर कलष लिए चल रही थी। वहीं अनेक महिलाएं डांडिया नृत्य व मोरनी नृत्य करते चल रही थी। दूसरी और पुरूष वर्ग सफेद वस्त्रों में रथ यात्रा में साथ में चल रहे थे। रथ यात्रा के आगे-आगे आचार्य भगवंत जितरत्नसागर सूरिजी मसा एवं चंद्ररत्न सागर सूरिजी मसा सहित बडी संख्या में प्रतिष्ठा में आए संत, साध्वियां भी चल रही थी। बग्घी नुमा रथ में प्रतिष्ठा महोत्सव के विभिन्न लाभार्थी भी विराजित थे। भगवान की प्रतिमा भी एक रथ में विराजित थी। बैंडबाजे, घुड सवार रथ यात्रा की शोभा बढा रहे थे। रविवार को सबसे प्रमुख भोजन नगर चौरासी का आयोजन था। प्रतिष्ठा मंडप में दीक्षा कल्याणक विधान, प्रभु जी की दीक्षा तत्पष्चात प्रथम विहार का कार्यक्रम संपन्न हुआ।
विशाल मंडप भक्तों से भरा रहा
दीक्षा कार्यक्रम के दौरान विशाल रूप लिए बना मंडप भक्तों से खचाखच भरा था। साधु-साध्वीगण भी मंडप में विराजित थे। मंडप का यह पूरा कार्यक्रम का दृश्य भावकुतापूर्ण के साथ मंत्रमुग्ध करने वाला था। कार्यक्रम आचार्य भगवंत जिनरत्नसागर जी की निश्रा में संपन्न हुआ। विभिन्न स्थानों पर गरीबों को भोजन के पैकेट भी वितरित किए गए। रथ यात्रा के लाभार्थी मानकुंवर बाई मनसुखलाल मंडोवरा इंदौर व गौतमपुरा परिवार थे। मंगलगान व प्रभातिया के लाभार्थी गुप्त नाम एक गुरूभक्त के नाम से थे। ध्वज दंड के लाभार्थी उच्छव बाई कालूराम छाजेड परिवार खाचरोद, कलश अभिषेक के लाभार्थी नंदराम कन्हैयालाल कांकरेचा परिवार प्रतापगढ, देव-देवी हवन के लाभार्थी सरस्वती बेन अमीचंद झवेरी मंुबई, चैत्य अभिषेक के लाभार्थी प्रीति बेन रोहित भाई परिवार मंुबई एवं गुरूमूर्ति पांच अभिषेक के लाभार्थी बीना बेन प्रफुल भाई झवेरी परिवार मुंबई तथा मंगलगान चौबीसी के लाभार्थी बसंती बेन शांतिलाल परिवार मुजफ्फर नगर थे। लाभार्थी द्वारा सभी कार्यक्रम विधिविधान से संपन्न कराए गए। मध्य रात्रि के शुभ मुहूर्त में अधिवासना, केवल ज्ञान, कल्याणक प्रभु जी की देषाना, निर्वाण कल्याणक, अभिषेक व प्रभुजी के प्रथम दर्शन कार्यक्रम भी संपन्न हुए। आज बडी संख्या में भक्तगण, राजनेता व सामाजिक नेता भी महोत्सव में पहंुचे। उक्त जानकारी विजय मेहता ने दी।
11 फरवरी के कार्यक्रम
11 फरवरी को प्रतिष्ठा महोत्सव का सबसे प्रमुख कार्यक्रम प्रतिमाएं प्रतिष्ठित करने का होगा। प्रतिमाओं में 24 तीर्थंकर सहित भक्तामर जिनालयों में प्रतिमाएं 50 तीर्थंकरों की प्रतिमाएं प्रतिष्ठित होगी। इसके अतिरिक्त गौतम स्वामी, पंुडरिक स्वामी, आनंद सागर सूरिश्वर मसा, आचार्य चंद्रसागर सूरिश्वर मसा, नवरत्न सागर सूरिश्वरजी मसा, अभ्युदय सागर जी मसा, नाकोडा भैरव देव, पद्मावती मातेश्वरी की प्रतिमाएं भी प्रतिष्ठित की जाएगी। लाभार्थियों का बहुमान भी होगा।

Related News