Follow us:

Chhapaak की निर्देशक Meghna Gulzar ने तोड़ी चुप्पी, Deepika Padukone के जेएनयू जाने पर कही यह बात

Chhapaak फिल्म की निर्देशक Meghna Gulzar ने Deepika Padukone के जेएनयू जाने पर पहली बार प्रतिक्रिया दी है। Meghna Gulzar का कहना है कि जेएनयू जाकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों के बीच खड़ा होना पूरी तरह से Deepika Padukone का निजी फैसला था। Meghna Gulzar के मुताबिक, पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को अलग-अलग करके देखा जाना चाहिए। मैं दर्शकों से गुजारिश करता हूं कि वे अपना नजरिया बदलें और देखें कि आखिरी एसिड अटैक का सामना करने वाली लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी पर फिल्म क्यों बनाई गई है। बता दें, Chhapaak की रिलीज से ठीक पहले लीड रोल निभाने वालीं Deepika Padukone जेएनयू गई थीं, जहां वामदल समर्थित छात्र संगठन यूनिवर्सिटी कैंपस में हुई हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे।

अपनी जेएनयू विजीट के दौरान Deepika Padukone बमुश्किल 10 मिनट वहां रुकी थीं और उन्होंने कोई बयान भी जारी नहीं किया था, फिर भी एक वर्ग उनके और फिल्म के खिलाफ खड़ा नजर आ रहा है।

एक इंटरव्यू में Meghna Gulzar ने कहा कि कोई अपनी निजी जिंदगी में क्या करता है और प्रोफेशनल लाइफ में क्या करता है, इसको अलग-अलग रखा जाना चाहिए। अहम बात यह है कि Chhapaak फिल्म क्यों बने। इसके पीछे से संदेश को दर्शक जानें और फिल्म देखें।

सियासत भी खूब हुई, कमाई पर असर

Deepika Padukone के जेएनयू जाने के बाद राजनीति भी खूब हुई। भाजपा के नेताओं ने Chhapaak के विरोध का अभियान चलाया तो विपक्षी दल इस फिल्म के समर्थन में आए आ गए। इसी सिलसिले में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ समेत कांग्रेस शासित राज्यों ने Chhapaak को टैक्स फ्री कर दिया। भोपाल व अन्य शहरों में शो के पहले दिन भाजपाइयों ने जहां अजय देवगन की 'तानाजी' के फ्री टिकट बांटे, वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने Chhapaak फ्री में दिखाई।

पूरी सियासत का असर फिल्म की कमाई पर भी नजर आ रहा है। रिलीज के पहले दिन 1700 स्क्रीन्स पर रिलीज होने के बावजूद फिल्म अब तक महज 22 करोड़ कमा पाई है जबकि उसी दिन रिलीज हुई 'तानाजी' की कमाई 75 करोड़ पहुंच गई है।

Related News