Follow us:

मध्यप्रदेश में जारी है किसानों की खुदकुशी, नीमच-सीहोर में 2 किसान ने खुदकुशी की

भोपाल। मध्य प्रदेश में किसानों की खुदकुशी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. यहां 24 घंटों में 3 किसानों ने खुदकुशी कर ली है. विदिशा, नीमच और सीहोर में किसानों ने खुदकुशी की है. विदिशा के सायर बमोरा में कर्ज से परेशान किसान जीवन सिंह मीणा ने पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली. वहीं सीहोर के गांव जमोनियाखुद में किसान बशीलाल मीणा ने फांसी लगा ली. किसान पर 9 लाख का कर्ज था.

इससे पहले नीमच से किसान की खुदकुशी का मामला सामने आया था, नीमच के गांव पिपलियाव्यास में 65 साल के किसान प्यारेलाल ने खेत में पेड़ से लटक कर जान दे दी, मृतक के बेटे के मुताबिक उनपर पिछले 2 साल से बैंक का ढाई लाख रुपये बकाया था, जिसके कारण बैंक वाले उन्हें परेशान कर रहे थे.

नीमच में खुदकुशी करने वाले किसान का नाम प्यारेलाल है. वहीं इस मामले में दूसरा मोड़ तब आय़ा जब मृतक किसान की बेटी ने बताया, ‘’उनकी भाभी ने परिवार पर दहेज प्रताड़ना का मामला चला रखा है. इस कारण पुलिस लगातार उनके पिता को परेशान कर रही थी और पैसे की डिमांड कर रही थी. इससे परेशान होकर मेरे पिता ने खुदकुशी कर ली.’’ इस मामले में फिलहाल पुलिस जांच कर रही है.


17 जून को भी धार में एक किसान ने की खुदकुशी

17 जून को धार में एक और किसान ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली थी. किसान का नाम जगदीश है. 35 साल के जगदीश पर बैंक ऑफ इंडिया का डेढ़ से दो लाख रुपए का कर्ज था. पिछले 11 दिनों में प्रदेश में करीब 12 किसानों ने कर्ज से तंग आकर आत्महत्या की है.