Follow us:

Twitter पर अब नहीं कर सकेगा कोई ट्रोल, अपनी पोस्ट पर आने वाले रिप्लाय कर सकेंगे कंट्रोल

Twitter पर किसी आम से लेकर खास खश्स तक का ट्रोल होने कोई नई बात नहीं है। अक्सर लोग अपने ट्वीट्स की वजह से लोगों के निशाने पर आ जाते हैं और शर्मिंदगी झेलनी पड़ती है। कई बार यह बेहद दुखद भी हो जाता है। लेकिन, अब ऐसा नहीं होगा। खबर है कि ट्विटर ऐसा फीचर लाने की तैयारी में है जो आपके किसी भी पोस्ट पर आने वाले रिप्लाय को मैनेज करने की सुविधा देगा। इस फीचर के बाद यूजर यह तय कर सकेगा कि उसकी पोस्ट पर कोन व्यक्ति पोस्ट कर सकता है और कौन नहीं। यह ट्विटर की तरफ से उठाया गया एक बड़ा कदम है जिसकी मदद से सोशल मीडिया ट्रोलिंग पर भी लगाम लगाने में मदद मिलेगी। इस फीचर का ट्विटर फिलहाल टेस्ट कर रहा है।

कंपनी ने इस फीचर को लेकर एक बयान में कहा है कि हम लोगों सो सोशल नेटवर्किंग साइठ पर सुरक्षित महसूस करवाना चाहते हैं। कंपनी एक फीचर पहले ही जारी कर चुकी है जिसमें वो अपने पोस्ट रिप्लाय को छिपा सकता है। अब इस नए फीचर में कंपनी ने यूजर को कुछ विकल्प भी दिए हैं जिनकी मदद से वो यह तय कर सकता है कि उसे कौन रिप्लाय करे और कौन नहीं।

ऐसे करेगा काम

यह फीचर काफी इंटरेस्टिंग तरीके से काम करेगा। इसमें उसे अलग-अलग ग्रुप्स मिलेंगे और हर ग्रुप में रिप्लाय करने या ना करने की एक लिमिट होगी। मसलन इसमें एक ग्रुप होगा ग्लोबल जिसमें यूजर किसी को भी प्रतिक्रिया देने की छूट देता है। वहीं दूसरा है ग्रुप, इसमें यूजर उन लोगों के रिप्लाय करने की अनुमति देता है जिन्हें वो फॉलो करता है या अपने ट्वीट में जिनका जिक्र करता है। इसके बाद है पैनल इसमें केवर उन्हीं यूजर्स को रिप्लाय का मौका मिलता है जिनका नाम ट्वीट में है। चौथा ऑप्शन है स्टेटमेंट जिसमें यूजर किसी का भी रिप्लाय नहीं चहता है।

बता दें कि इस तरह यूजर उन अनचाहे रिप्लाय को रोक सकेगा जो उसका अपमान या उसे ट्रोल करते हैं। मालूम हो कि सोशल मीडिया कंपनियां हमेशा से सायबर बुलिंग को लेकर निशाने पर रही है। कोई भी कभी भी अकस्र ट्रोल हो जाता है लेकिन नए फीचर के बाद इस पर रोक लगनान में मदद मिलेगी।

अब तक यह फीचर ट्विटर पर नहीं ता लेकिन अब कंपनी ने इसे वैश्विक स्तर पर रोल आउट करना शुरू कर दिया है। इस फीचर के आने के बाद यूजर अपनी वॉल पर आने वाले आपत्तीजनक रिप्लाय को छिपा सकेगा। प्रोडक्ट मैनेजमेंट के हेड सुजैन शी के अनुसार, इस फीचर को लाने का मकसद सोशल नेटवर्किंग साइट पर यूजर्स को सुरक्षित और दोस्ताना माहौल देना है।

ट्विटर द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, छिपाए हुए यह रिप्लाय वहां नजर आने वाले एक ग्रे कलर के आईकॉन की मदद से देखे जा सकेंगे लेकिन यह मुख्य बातचीत का हिस्सा नहीं रहेंगे।

शी के अनुसार, इस तरह आपके पास ट्विटर पर ज्यादा कंट्रोल होगा और आप अपनी बातचीत को बेहतर तरीके से हैंडल कर सकेंगे। हालांकि, लोग इसके बावजूद पूरी बातचीत देख सकेंगे।

सैन फ्रांसिस्को स्थित कंपनी ने इसी साल इस फीचर को पेस किया था। हालांकि, तब यह केवल कुछ ही देशों के लिए आया था और अब इसे पूरी दुनिया के लिए जारी किया जा रहा है। टेस्टिंग्स में दिखाया गया है कि ट्वीट्स को मैनेज करने का अच्छा टूल है। शी ना बताया कि टेस्टिंग के दौरान जो ट्वीट्स छिपाए गए थे वो मुद्दे से इतर, बेमतलब और चिढ़ाने वाले थे। उन्होंने कहा कि हम और भी विकल्प ढूंढ रहे हैं जिसमें आप किसी विशेष बातचीत को जवाब दे सकें या उसे देख सकें।

Related News