Follow us:

गुजरात में एक ही परिवार के पांच लोगों ने की आत्महत्या, पीछे रह गए एक बुजुर्ग

जामनगर। गुजरात के जामनगर जिले के किसान चोक इलाके में मंगलवार को एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने सामुहिक आत्महत्या कर ली है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि यह परिवार आर्थिक संकट से जूझ रहा था। घटना की सूचना पाते ही जिला पुलिस अधीक्षक, पुलिस उपाधिक्षक सहित का काफिला घटना स्थल पर पहुंच गया। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक किसान चोक इलाके के मोदी वाड़ा क्षेत्र में यह घटना हुई है। जामनगर जिला पुलिस अधीक्षक शरद सिंघल ने बताया कि परिवार में केवल 81 वर्षीय बुर्जुग पन्नालाल साकरिया बचे है। घटना के समय वे नीचे वाले कमरे सो रहे थे जबकि परिवार के बाकी लोग उपर वाले कमरे में सो रहे थे। देर रात ही साकरिया परिवार के पांच सदस्यों ने जहर पीकर आत्महत्या कर ली थी, लेकिन घटना खुलासा मंगलवार सुबह हुआ।

होलसेल के व्यापारी दीपक पन्नालाल साकरिया (45) ने पहले पत्नी आरती (42), माता जयाबेन साकरीया (78), 10 वर्षीय पुत्री कुमकुल तथा पांच वर्षीय पुत्र हेंमत को पानी में जहर मिला कर पिला दिया इसके कुछ देर बाद खुद भी जहर पीकर आत्हमत्या कर ली।

पुछताछ में पता चला है कि परिवार आर्थिक सकंट से जूझ रहा था। मृतक दीपक साकरिया की माता की बीमारी पर हर महीने 20 हजार रुपये खर्च होते थे। तथा मकान के लिए बैंक में 15 हजार की किस्त भरनी पड़ती थी ।

जांच में सामने आया है कि मृतक दीपक भाई ने पिछले तीन महीने से मकान की किस्त नहीं भरी थी। इससे वे काफी चिंता में थे। दीपक ने चार दिन पहले ही अपने मौसी के लड़के से कहा था कि मां के इलाज और मकान की किस्त मिलाकर महीने में कुल 40 हजार रुपये भरने लगते है लेकिन उसकी आवक केवल 15 से 20 हजार है। इन रुपयों से केवल घर भी ठीक से नहीं चलता है। वह इस सब वजहों से परेशान हो गया है। पुलिस अधीक्षक शरद सिंघल ने बताया कि घर में से एक जहर की शीशी मिली है। शवों पोस्मोर्टम के लिए भेज कर जांच में एफएसएल की भी मदद ली गयी है।