Follow us:

नेहरू और शास्त्री के स्मारक स्थल के बीच राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर आज होगा वाजपेयी का अंतिम संस्कार

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को नम आंखों से आज विदाई दी जा रही है. उनका शाम चार बजे के करीब यमुना किनारे राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर अंतिम संस्कार किया जाएगा. इस मौके पर हजारों की भीड़ के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत कई दिग्गज मौजूद रहेंगे. इसके लिए तैयारी जारी है. सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं.

दिल्ली पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, गेट नंबर चार से अंतिम संस्कार देखने के लिए आम लोगों को एंट्री दी जाएगी. अटल बिहारी वाजपेयी के समाधि स्थल के आस पास लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है. साथ ही स्मृति स्थल के पास बड़ी बड़ी LED स्क्रीन लगाई गई हैं जिनके जरिये लोग अंतिम दर्शन को देख सकेंगे. VVIP मूवमेंट वाले रास्ते पर लगातार पुलिस पेट्रोलिंग की जा रही है.

स्मृति स्थल जवाहर लाल नेहरू के स्मारक 'शांति वन' और लाल बहादुर शास्त्री के 'विजय घाट' के बीच स्थित है. पूर्व प्रधानमंत्री आईके गुजराल का अंतिम संस्कार यमुना नदी के किनारे दिसम्बर 2012 में स्मृति स्थल पर किया गया था।

आपको बता दें कि अस्वस्थ रहने के कारण एक दशक से अधिक समय से सार्वजनिक जीवन से दूर रहे 93 वर्षीय बीजेपी नेता को गुर्दा और छाती में तकलीफ बढ़ने के बाद 11 जून को एम्स में भर्ती करवाया गया था, जहां उन्होंने गुरुवार को शाम 5.05 बजे अंतिम सांस ली. उनके निधन की खबर के बाद देशभर में शोक है. देशभर के सियासी दिग्गजों ने दुख प्रकट किया है. फिलहाल वाजपेयी के शव को अंतिम दर्शन के लिए बीजेपी मुख्यालय में रखा जा रहा है.

केंद्र सरकार ने वाजपेयी के निधन पर सात दिन के राष्ट्रीय शोक और पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार करने की घोषणा की है. इस दौरान भारत और विदेश में भारतीय दूतावासों में 16 अगस्त से 22 अगस्त के बीच राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा।