Follow us:

गाजियाबाद के अरोरा ने वेतन में टिम कुक को भी पछाड़ा, मिलेंगे 859 करोड़ रुपए सालाना

न्यूयॉर्क। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में जन्मे निकेश अरोरा वेतन के मामले में ऐपल के सीईओ टिम कुक को भी पछाड़ कर आईटी इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ बन गए हैं। सिलिकॉन वैली स्थित साइबर सिक्योरिटी कंपनी पालो अल्टो नेटवर्क उन्हें सालाना 12.8 करोड़ डॉलर यानी करीब 859 करोड़ रुपए वेतन देगी। टेक्नोलॉजी सेक्टर में अरोरा का लंबा कॅरिअर रहा है। इससे पहले वे सॉफ्ट बैंक और गूगल में काम कर चुके हैं।

बहरहाल, अरोरा ने मार्क मिकलॉकलीन की जगह ली है। मार्क 2011 से लेकर इस हफ्ते तक पालो अल्टो के सीईओ थे। वैसे मार्क कंपनी के बोर्ड में उपाध्यक्ष बने रहेंगे। अरोरा बोर्ड के अध्यक्ष भी होंगे। कॉर्पोरेट जगत की कई हस्तियों के लिए पालो अल्टो नेटवर्क का यह फैसला हैरान करने वाला है।

मसलन, क्रेडिट स्विस के विश्लेषक ब्रैड जेलनिक ने फाइनेंशियल टाइम्स से कहा कि अरोड़ा के पास साइबर सिक्योरिटी का अनुभव नहीं है। ऐसे में इस पद पर उनका चयन हैरत में डालने वाला है। वैसे यह भी कहा जा रहा है कि अरोरा के पास क्लाउड और डेटा डीलिंग का व्यापक अनुभव है और साइबर सिक्योरिटी डेटा एनलिसिस समस्या में बुरी तरह जकड़ी हुई है।

 

सशर्त वेतन पैकेज

अरोरा का सालाना वेतन 6.7 करोड़ रुपए होगा और इतना ही बोनस मिलेगा। इसके अलावा उन्हें 268 करोड़ रुपए के शेयर मिलेंगे, जिन्हें वे 7 साल तक नहीं बेच पाएंगे। यदि वे पालो अल्टो के शेयर की कीमत अगले 7 वर्षों के भीतर 300 फीसदी बढ़ाने में कामयाब रहेंगे तो उन्हें 442 करोड़ रुपए और मिलेंगे। इन सबके अलावा अरोरा अपने पैसे से पालो अल्टो नेटवर्क के 134 करोड़ रुपए के शेयर खरीद सकते हैं और इतनी ही कीमत के शेयर उन्हें और दिए जाएंगे, जिसे वे 7 वर्ष तक बेच नहीं पाएंगे।

 

ऐपल के सीईओ से ज्यादा वेतन

अरोरा से पहले ऐपल के सीईओ टिम कुक टेक्नोलॉजी की दुनिया में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ थे। उनका सालाना पैकेज 11.9 करोड़ डॉलर (करीब 799 करोड़ रुपए) का है। 2014 में जब अरोरा ने गूगल की नौकरी छोड़ी थी, तब उनका सालाना वेतन 5 करोड़ डॉलर था। इसके बाद उन्होंने सॉफ्ट बैंक ज्वाइन किया था और यहां उन्होंने 48.3 करोड़ डॉलर के शेयर खरीदे थे। वे सॉफ्ट बैंक में जून, 2016 तक रहे।

 

बीएचयू से की इंजीनियरिंग

निकेश अरोरा के पिता इंडियन एयरफोर्स में अधिकारी थे। उन्होंने स्कूल की पढ़ाई दिल्ली में एयरफोर्स के ही स्कूल से की थी। इसके बाद उन्होंने 1989 में बीएचयू आईटी से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग में ग्रैजुएशन किया। फिर विप्रो में नौकरी शुरू की, लेकिन जल्द ही छोड़ दी और आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए। उन्होंने बोस्टन की नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी से एमबीए किया।

 

1992 में उन्होंने फिडेलिटी इंवेस्टमेंट में बतौर विश्लेषक ज्वाइन किया। लेकिन, पढाई नहीं छोड़ी उन्होंने बोस्टन कॉलेज में फाइनेंशियल प्रोग्राम की पढ़ाई शुरू की, जहां वे रात में क्लास करते थे। उनकी मेहनत रंग लाई और वे क्लास में टॉप कर गए। इसके साथ ही 1995 में अरोरा ने चार्टर्ड फाइनेंशियल एनलिस्ट की पढ़ाई पूरी कर ली।

अरोरा से ज्यादा वेतन पाने वाले केवल दो सीईओ

 

सीईओ कंपनी वेतन पैकेज

 

 

डेविड जस्लाव डिस्कवरी कम्युनिकेशंस 15.61

सुंदर पिचाई गूगल इंक 15.0

 

माइकल फ्राइज लिबर्टी ग्लोबल 11.19

मारियो गैबेली गैमको इंवस्टर्स 8.85

 

ग्रेगरी मफी लिबर्टी मीडिया एंड इंटरैक्टिव 7.38

(वेतन पैकेज करोड़ डॉलर में)