Follow us:

Gmail में होने जा रहा बड़ा बदलाव, वेब पेज की तरह काम करेगा आपका Inbox

नई दिल्ली।  Google का Inbox जल्द ही बंद होने वाला है लेकिन कंपनी अपनी ईमेल सर्विस Gmail में कईं बड़े बदलाव करने जा रही है। इन बदलावों के बाद जीमेल ना सिर्फ पहले से ज्यादा बेहतर नजर आएगा बल्कि इसमें AMP फीचर भी जोड़ा जा रहा है। इस फीचर के आने के बाद जीमेल का इनबॉक्स एक इंटरेक्टिव वेब पेज की तरह काम करने लगेगा।

Google AMP वही तकनीक है जो वेब पेजेज को और भी हल्का बनाने का काम करती है ताकि वो तेजी से लोड हो सके इन्हें यूज करना और आसान हो जाए। नई टेक्नोलॉजी में आपको इनबॉक्स किसी पोर्टल की तरह दिखाई देगा। जिससे यह और भी ज्यादा यूजर फ्रेंडली हो जाएगा। Google ने इसे वेब के लिए रोल आउट करना शुरू कर दिया है। इसे आप स्मार्टफोन पर भी एक्सेस कर सकेंगे। आइए, जानते हैं इस नए AMP फीचर के बारे में

Google के इस नए AMP टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल अपने सर्च इंजन में करता है जिसकी मदद से किसी भी पेज को मोबाइल डिवाइस में लोड होने में बेहत कम समय लगता है। इस तकनीक का इस्तेमाल कंपनी अब अपने ई-मेल प्लेटफॉर्म Gmail पर भी कर रही है।

Google के आधिकारिक ब्लॉग के मुताबिक, अगर आप अपने इनबॉक्स में किसी भी लिंक पर क्लिक करते हैं तो एक नया टैब ओपन होता है। आज से हम Gmail को ज्यादा यूजफूल और इंटरैक्टिव बनाने जा रहे हैं। इसकी मदद से आपके ई-मेल अप टू डेट रहेंगे, आप जब भी Gmail का इनबॉक्स ओपन करेंगे तो आपको नए मैसेज मिलेंगे। इस डायनामिक ई-मेल इनबॉक्स की मदद से आप डायरेक्टली किसी भी मैसेज को ओपन कर सकेंगे। इन बॉक्स से ही आप किसी भी इवेंट के प्रश्नोत्तरी को भर सकेंगे, कैटेलॉग ब्राउज कर सकेंगे यहां तक कि कमेंट का जबाब भी दे सकेंगे।

Google AMP की मदद से मार्केटर्स के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले Gmail में मैसेज को पर्सनलाइज किया जा सकेगा। मार्केटर्स ई-मेल मैसेज में ज्यादा से ज्यादा कंटेंट को जोड़ सकेंगे। सबसे अच्छी बात यह है कि इस नई तकनीक से ज्यादा कंटेंट जोड़े जाने के बाद भी पेज हैवी नहीं होगा। फिलहाल यह तकनीक Gmail के पहले स्टेज में है। बाद में इसे अन्य ई-मेल सर्विस प्रोवाइडर्स भी इसी तरह की नई तकनीक का इस्तेमाल कर सकते हैं।