Follow us:

सोने की चेन और जेब में 22 हजार देखकर दोस्त ने ही कर दी दोस्त थी हत्या

ग्वालियर। गले में सोने की चेन, जेब में 22 हजार रुपए देखकर दोस्त ने ही शराब पिलाकर लूट करने का प्रयास किया। जब लूट नहीं कर सका, तो सिर में दो गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या में एक नाबालिग सहित 4 लोग शामिल थे। पुलिस ने मंगलवार को मामले का खुलासा किया है।

तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर दो कट्टे, दो कारतूस, लूटा गया पर्स और 810 रुपए बरामद कर लिए हैं। एक आरोपी अभी फरार है।

ऐसे हुई थी वारदात

29 अगस्त 2018 को महाराजपुरा थानाक्षेत्र स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी की पहाड़ी पर एक युवक का शव पुलिस को मिला था। युवक के सिर में दो गोली के घाव थे। शरीर पर घसीटने के भी निशान थे। मृतक की शिनाख्त हजीरा कांचमिल निवासी भानू तोमर (20) के रूप में हुई थी। भानू की जेब से पर्स, गले से सोने की चेन, हाथ से अंगूठियां गायब थीं। सिर में गोली लगने के घाव और शरीर पर मारपीट के निशान मिले थे। जिसके बाद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू की।


सोने की चेन और जेब में 22 हजार देखकर दोस्त ने ही कर दी दोस्त थी हत्या
यह भी पढ़ें

कर्जा चुकाने के लिए लूटना चाहते थे

जब पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तब पता लगा कि भानू घटना के एक दिन पहले से लापता था। आखिरी बार उसे अरुण सिंह चौहान निवासी पीएचई कॉलोनी हजीरा व एक अन्य युवक के साथ देखा गया था। अरुण और भानू दोनों अच्छे दोस्त थे। इसलिए पुलिस को उस समय संदेह नहीं हुआ। अभी कुछ दिन पहले अरुण पर कर्जा होने का पता चला। इस पर पुलिस ने अरुण की निगरानी कर उसे सोमवार रात गिरफ्तार किया।


भिंड के नगर निगम बनने से 10 गुना तेजी से होगा विकास, इतना हो जाएगा बजट
यह भी पढ़ें

पूछताछ में अरुण ने साथी ओपी उर्फ उपेन्द्र सिंह भदौरिया (23)निवासी हजीरा, एक नाबालिग साथी सहित 4 लोगों के साथ मिलकर हत्या करना कबूल कर लिया। अरुण ने खुलासा किया कि उस पर एक लाख रुपए का कर्ज था। कर्ज चुकाने के लिए रुपयों की जरूरत थी। भानू के गले में सोने की चेन, अंगुलियों में अंगूठियां देखकर उसके मन में लालच आ गया।

28 अगस्त को भानू की जेब में 22 हजार रुपए होने का पता लगा। इस पर उसे शराब पीने के लिए बुलाया और पहाड़िया पर ले गए। यहां नशे में धुत होने के बाद लूट का प्रयास किया, लेकिन वह भारी पड़ गया। इस पर कट्टे से दो गोली उसके सिर में मारी। शव को घसीटकर ले गए और दूर फेंक दिया। उसके बाद चेन, अंगूठियां और रुपए ले लिए। पुलिस ने ओपी व नाबालिग साथी राजेश (परिवर्तित नाम) को भी गिरफ्तार कर लिया है।