Follow us:

केरल में 26 साल बाद खुले इडुक्की डैम के गेट, भारी बारिश से अब तक 20 की मौत

तिरुवनंतपुरम। मानसून का पूरे देश में कोहराम जारी है। उत्तर भारत के अलावा दक्षिण भारत में भी बारिश कहर बरपा रही है। इसी के चलते हुए हादसों के कारण केरल में अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है।

जानकारी के अनुसार भारी बारिश के कारण बुधवार रात केरल में कई जगहों पर भूस्खलन की घटनाएं हुई हैं। इनमें 10 लोग तो इडुक्की में मारे गए हैं वहीं वायनाड जिले में 6 लोगों की मौत हुई है।

भूस्खलन के चलते वायनाड जिला पूरी तरह से कट गया है और सरकार ने पुनः सड़क संपर्क स्थापित करने के लिए सेना की मदद मांगी है। वहीं इडुक्की में कई इलाके पानी में डूब गए हैं। इसके अलावा भारी बारिश से बढ़ते जलस्तर के कारण प्रशासन ने इडुक्की डैम के दरवाजे खोल दिए हैं।

AJITH K JOSEPH
@ajithucc
Idukki dam shutters opened. Trial run started#Idukki #IDUKKIDAM #IDAMALAYAR #EdamalayarDam #periyar #waterlever #Keralarains #KeralaFloods
1:03 PM - Aug 9, 2018
See AJITH K JOSEPH's other Tweets

बता दें कि ऐसा 26 साल बाद हुआ है जब जलस्तर सर्वोच्च स्तर पर पहुंचने के बाद इडुक्की डैम के दरवाजे खोले गए हों। इससे पहले 1992 में इस डैम के दरवाजे खोले गए थे। 

वहीं गुरुवार सुबह ईडामलयार डैम से छोड़े गए पानी की वजह से पेरियार नदी का जलस्तर एक मीटर और बढ़ गया। हालांकि, जिला कलेक्टर मोहम्मद सफीरुल्ला ने एक बयान जारी कर कहा है कि डैम से पानी छोड़े जाने के कारण नदी का जलस्तर बढ़ा है लेकिन फिलहाल चिंता की बात नहीं है। हमने हालात से निपटने की पूरी तैयारी कर रखी है।