Follow us:

अपने ही विमान को मार गिराने वाले वायुसेना के 5 अधिकारियों पर होगी कार्रवाई, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली। कश्मीर के श्रीनगर में 27 फरवरी को भारतीय वायुसेना के जवानों द्वारा गलती से भारतीय विमान को मार गिराया गया था। इस मामले में हुई कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के बाद वायुसेना के 5 अधिकारियों को दोषी पाया गया है। इस घटना में 6 लोगों की मौत हो गई थी। पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी सेना के विमानों ने भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की थी, इस दौरान भारतीय विमानों ने उनको कड़ा जवाब दिया था। इस दौरान ही लापरवाही की वजह से एक भारतीय विमान भी क्रेश हो गया था।

ANI के मुताबिक, जब विमान क्रेश हुआ उस वक्त पूरे ऑपरेशन की कमान वेस्टर्न एयर कमांडर एयर मार्शल हरि कुमार के हाथों में थी। यह क्रेश स्पायडर एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम से फ्रेंडली फायर करने के दौरान हुआ था।

रिपोर्ट के अनुसार 'ग्रुप कैप्टन के साथ ही 5 अफसरों, जिनमें दो विंग कमांडर और दो फ्लाइट लेफ्टिनेंट को दोषी पाया गया है।' अफसरों को लारवाही और सही तरह से प्रोसिजर का पालन नहीं करने की वजह से Mi-17 V5 चॉपर को मार गिराने का दोषी पाया गया है।

बता दें कि यह जांच एयर फोर्स हेडक्वार्टर द्वारा कराई गई थी। सरकार और एयर फोर्स के आला अधिकारी इस मामले में सख्ततम सजा देने के पक्ष में हैं।

27 फरवरी को Mi-17 V5 चॉपर जिसने श्रीनगर में 154 हैलीकॉप्टर यूनिट से उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के 10 मिनिट के बाद ही वह क्रेश हो गया था। वह पाकिस्तान के विमान से उस वक्त 100 किलोमीटर दूर था।

Related News