Follow us:

Ind vs Aus ODI Series: टीम इंडिया के सामने ऑस्ट्रेलिया से पिछली हार का बदला लेने की चुनौती

भारत (India) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बीच तीन इंटरनेशनल वनडे मैचों की सीरीज 14 जनवरी से मुंबई में शुरू होगी। श्रीलंका को टी20 सीरीज में 2-0 से हरा चुकी टीम इंडिया की असली परीक्षा अब ऑस्ट्रेलिया के सामने होगी। कई प्रमुख खिलाड़ियों की अनुपस्थिति के बावजूद एरोन फिंच (Aaron Finch) की ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पिछले साल भारत को उसी के घर में 3-2 से हराया था। विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम इंडिया उस हार का बदला लेने के इरादे से मैदान में उतरेगी।

Virat Kohli की टीम के लिए इस बार राह आसान नहीं होगी क्योंकि अब ऑस्ट्रेलियाई टीम में स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वॉर्नर (David Warner) जैसे दिग्गज खिलाड़ियों की वापसी हो चुकी है। इसके अलावा जबर्दस्त फॉर्म में चल रहे मार्नस लाबुशाने (Marnus Labuschagne) भी टीम में मौजूद होंगे।

ऑस्ट्रेलियाई टीम ने मार्च 2019 में भारत में पांच मैचों की वनडे सीरीज खेली थी। स्मिथ और वॉर्नर बॉल टैंपरिंग मामले में प्रतिबंध की वजह से इस सीरीज में नहीं खेले थे। विराट कोहली की टीम इंडिया ने हैदराबाद और नागपुर में हुए शुरुआती दो मैचों की जीत सीरीज में 2-0 की बढ़त बनाई थी तो हर कोई यह अंदाजा लगा रहा था कि भारत आसानी से जीत लेगा। इसके बाद सीरीज में ऐसा मोड़ आया जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी।

उस्मान ख्वाजा (Usman Khawaja) को टेस्ट क्रिकेट का बल्लेबाज समझा जाता है लेकिन उन्होंने भारत के खिलाफ अगले तीनों मैचों में धमाकेदार प्रदर्शन कर अपनी टीम को यादगार जीत दिलाई। ख्वाजा (104) और कप्तान एरोन फिंच (93) की पारियों से ऑस्ट्रेलिया ने रांची में तीसरे वनडे में 5 विकेट पर 313 रन बनाए और यह मैच 32 रनों से जीत सीरीज में वापसी की तरफ कदम बढ़ाया। मोहाली में चौथे मैच में भारत ने Shikhar Dhawan (143) और Rohit Sharma (95) की पारियों से 358 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। ऑस्ट्रेलिया ने पीटर हैंड्सकॉम्ब (117) और ख्वाजा (91) के बाद Ashton Turner की विस्फोटक बल्लेबाजी (43 गेंदों में 84 रन) से सीरीज में बराबरी कर ली। दिल्ली में पांचवें और निर्णायक मैच में भी ख्वाजा ने शतक (100) लगाते हुए अपनी टीम को 35 रनों से जीत दिलाते हुए सीरीज भी दिलाई।

भारत को अपनी धरती पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार तीन सीरीज जीत के बाद यह हार मिली थी। विराट कोहली के लिए यह हार चुभने वाली है और वे निश्चित रूप से इस बार उसका बदला लेने के लिए पूरी ताकत लगाएंगे।