Follow us:

लापता विमान एएन-32 पर वायुसेना का बयान, कहा- कुछ मलबों को हेलीकॉप्टर से देखा गया, तलाश जारी

नई दिल्ली। वायुसेना के लापता विमान एएन-32 को लेकर आठ दिन बाद बड़ी जानकारी सामने आई है. वायुसेना ने बयान जारी कर कहा है कि अरुणाचल प्रदेश के लीपो में 12 हजार फीट की ऊंचाई पर हेलिकॉप्टर से विमान से कुछ मलबों को देखा गया है. पूरे इलाके की छानबीन की जा रही है. बता दें कि वायुसेना का मालवाहक विमान एनएन-32 तीन जून से लापता है. इस विमान में कुल 13 लग सवार थे जिनमें 8 क्रू मेंबर और पांच यात्री सवार थे.

रूस निर्मित विमान ने अरुणाचल प्रदेश के शि-योमि जिले के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए सोमवार रात 12 बजकर 27 मिनट पर असम के जोरहाट से उड़ान भरी थी. जमीनी नियंत्रण कक्ष के साथ विमान का संपर्क दोपहर एक बजे टूट गया. विमान में चालक दल के आठ सदस्य और पांच यात्री यानी कुल मिलाकर 13 लोग सवार थे.


शनिवार को वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने जोरहाट का दौरा किया था. सापता विमान के बारे में विस्तृत जानकारी लेने के बाद उन्होंने उन अधिकारियों और वायु सेना के कर्मियों के परिजनों से मुलाकात की, जो भारतीय वायुसेना के विमान में सवार थे.


वायु सेना ने लापता एन-32 के बारे में कोई भी जानकारी देने वालों के लिए 5 लाख रुपये के ईनाम का एलान किया था. वायुसेना की ओर से यह भी बताया गया था कि विमान की खोज के लिे इसरो के उपग्रहों सहित विभिन्न एजेंसियों के उन्नत तकनीक और सेंसर की मदद भी ली जा रही है.


लापता विमान एएन-32 को पायलट आशीष तंवर उड़ा रहे थे. तंवर ने सोमवार को 12 बजकर 27 मिनट पर असम के जोरहाट से मेंचुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी तो उसी समय उनकी पत्नी संध्या भी जोरहाट बेस पर तैनात थी. अचानक एक बजे विमान और एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम का संपर्क टूट गया. संध्या और आशीष की शादी फरवरी 2018 में हुई थी.

 

 

Related News