Follow us:

जानिए क्या हुआ था पत्रकार छत्रपति के साथ, जिनकी हत्या का दोषी करार दिया गया है राम रहीम

रोहतक। पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट ने पत्रकार छत्रपति हत्याकांड में गुरमीत राम रहीम सिंह समेत चार को दोषी करार दिया है।

जानिए क्या है यह पूरा मामला -

यह करीब 16 साल पुराना मामला है। साल 2002 में पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। छत्रपति अपने अखबार में डेरा से जुड़ी खबरे छापते थे। डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर किशनलाल, निर्मल और कुलदीप के साथ मिलकर साजिश रच कर छत्रपति की हत्‍या कराने का आरोप है। आरोप है कि बाइक पर आए कुलदीप ने गोली मार कर रामचंद्र प्रजापति की हत्या कर दी थी उसके साथ निर्मल भी था।

हत्‍या लाइसेंसी रिवाल्‍वर से की गई थी। रामचंद्र की हत्‍या दिनदिहाड़े सिरसा में बीच सड़क पर की गई थी। दोनों आरोपितों कुलदीप और निर्मल को मौके पर ही पकड़ लिया गया था। छत्रपति ने ही साध्वियों से दुष्‍कर्म के मामले का खुलासा किया था।

छत्रपति ने अपने सांध्‍यकालीन समाचार पत्र 'पूरा सच' मेंं इस संबंध में अनाम साध्‍वी का पत्र प्रकाशित किया था और पूरे मामले का खुलासा किया था। इस मामले में 2003 में एफआईआर दर्ज हुई थी और 2006 में मामला सीबीआइ के सुपुर्द किया गया था। इन साध्वियों से दुष्‍कर्म के मामले में ही गुरमीत राम रहीम सुनारिया जेल में 20 वर्ष कैद की सजा भुगत रहा है।

 

Related News