Follow us:

मेंटल है क्या : कंगना रनोट की फिल्म का ट्रेलर लॉन्च इवेंट रद्द, टाइटल को लेकर सेंसर बोर्ड में शिकायत

मुंबई। कंगना रनोट और राजकुमार राव स्टारर फिल्म मेंटल है क्या का ट्रेलर आज (बुधवार) रिलीज होने वाला था। इसके लिए एक लॉन्चिंग इवेंट और प्रेस कॉन्फ्रेंस की तैयारी भी थी। कंगना कॉन्फ्रेंस में शामिल होने वाली थीं। लेकिन ताजा रिपोर्ट्स की मानें तो इवेंट फिलहाल रद्द कर दिया गया है। दरअसल, द इंडियन साइकाइट्रिक सोसायटी के डॉक्टर्स ने फिल्म के टाइटल पर आपत्तिजनक जताते हुए सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी से शिकायत की है। सोसाइटी का कहना है कि फिल्म मानसिक विकारों से जूझ रहे लोगों का मजाक उड़ाती है।

दीपिका के एनजीओ ने भी उठाया टाइटल पर सवाल
द इंडियन साइकाइट्रिक सोसायटी के साथ दीपिका पादुकोण के एनजीओ द लाइव लव लाफ फाउंडेशन ने भी कथिततौर पर फिल्म के टाइटल पर सवाल उठाया है। उनका कहना है कि यह ऐसे लोगों को बढ़ावा देता है, जो मेंटल शब्द को अपमानजनक रूप में इस्तेमाल करते हैं।

अब आगे क्या?
रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेकर्स चाहते हैं कि किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले डॉक्टर्स फिल्म का ट्रेलर देख लें। इसके बाद ही इसे ऑडियंस के लिए रिलीज किया जाएगा।

ट्रेलर में देरी का एक कारण यह भी
एक सूत्र ने बताया, "मेकर्स फिलहाल सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिलने का इंतजार कर रहे हैं। ताकि ट्रेलर रिलीज किया जा सके। देरी का सबसे बड़ा कारण यही है। गुरुवार शाम तक इसे रिलीज करने की तैयारी थी। लेकिन बाद में फिल्म की टीम ने प्लान रद्द कर दिया। हालांकि, मेकर्स चाहें तो ट्रेलर को बिना सर्टिफिकेट डिजिटली रिलीज कर सकते हैं।"

भावनाओं की अवहेलना नहीं करता टाइटल: एकता
मंगलवार को फिल्म की प्रोड्यूसर एकता कपूर ने इसका मोशन पोस्टर रिलीज करते हुए एक डिसक्लेमर भी दिया था। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा था, "फिल्म किसी तरह से मेंटल हेल्थ कम्युनिटी को हाशिए पर नहीं लेती है और न ही इसका टाइटल किसी की भावनाओं की अवहेलना करता है। यह मानसिक बीमारियों को लेकर सेंसिटिव है। यह एक फिक्शनल थ्रिलर है, जो आपको अपनी विशिष्टता का जश्न मनाने और अपने व्यक्तित्व को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करती है।"

प्रकाश कोवेलामुदी के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म 26 जुलाई को रिलीज होगी।

 

Related News