Follow us:

झांसी की रानी के बाद अब जयललिता की बायोपिक 'जया' में नजर आएंगी कंगना रनौत

Jayalalithaa Biopic: इसी साल कंगना रनौत की फिल्म 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' में झांसी की रानी का रोल प्ले करती नजर आईं थी. मणिकर्णिका के बाद अब कंगना रनौत दिवंगत राजनेता और अभिनेत्री जयललिता का रोल ऑन स्क्रीन प्ले करने वाली हैं. आज कंगना रनौत का जन्मदिन है और इस खास मौके पर उनकी अगली फिल्म की अनाउंसमेंट की गई है.

कंगना रनौत हमेशा से ही अपनी यूनीक फिल्म च्वाइस के लिए जानी जाती रही हैं. 'क्वीन' हो या फिर झांसी की रानी उन्होंने अपने हर किरदार के लिए फैंस से तारीफ पाई है ऐसे में पर्दे पर जयललिता का किरदार निभाना भी उनके लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा.

तमिलनाडु में जयललिता को 'पुराची थलाईवी' के नाम से भी जाना जाता रहा है, जिसका अर्थ होता है 'क्रांतिकारी नेता'. इस फिल्म को दो भाषाओं तमिल और हिंदी में रिलीज किया जाएगा. 'पुराची थलाईवी' की तर्ज पर फिल्म के तमिल संस्करण को 'थलाईवी' नाम से रिलीज किया जाएगा. वहीं, फिल्म के हिंदी संस्करण का नाम 'जया' रखा गया है.

फिल्म का निर्देशन एएल विजय करेंगे. बता दें कि इस फिल्म की कहानी 'बाहुबली' और 'मणिकार्णिका' की कहानी लिख चुके लेखक केवी विजेंद्र प्रसाद ने लिखी है. हालांकि फिल्म को कब रिलीज किया जाएगा इसे लेकर कोई जानकारी बाहर नहीं आई है.


taran adarsh
@taran_adarsh
#BigNews: Kangana Ranaut to play Jayalalithaa... Biopic will be made in two languages. Titled #Thalaivi in Tamil and #Jaya in Hindi... Directed by AL Vijay... Written by KV Vijayendra Prasad [#Baahubali and #Manikarnika]... Produced by Vishnu Vardhan Induri and Shaailesh R Singh.
3,856
8:42 AM - Mar 23, 2019

कौन थीं जयललिता ?

दक्षिण भारत में खासकर तमिलनाडु के लोगों के बीच भगवान की तरह पूजी जाने वाली जयललिता का निधन 5 दिसम्बर 2016 को हुआ था. जयललिता का जन्म एक तमिल परिवार में 24 फरवरी, 1948 में हुआ और वो कर्नाटक के मेलुरकोट गांव में पैदा हुई. मैसूर में संध्या और जयरामन दंपति के ब्राह्मण परिवार में जन्मीं जयललिता की शिक्षा चर्च पार्क कॉन्वेंट स्कूल में हुई.जयललिता के पिता का तब निधन हो गया था जब वे केवल दो वर्ष की थीं.

15 साल की उम्र में तो उन्होंने कन्नड़ फिल्मों में अभिनेत्री का काम करना शुरू कर दिया था. इसके बाद उन्होंने तमिल फिल्मों का रूख किया. 1965 से 1972 के दौर में उन्होंने अधिकतर फिल्में एमजी रामचंद्रन के साथ की. फिल्मी कामयाबी के दौर में उन्होंने 300 से ज़्यादा तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और हिंदी फिल्मों में काम किया. साल 1982 में उन्होंने राजनीति में कदम रखा. जिसके बाद उन्होंने एक या दो बार नहीं बल्कि 5 बार तमिलनाडु की सत्ता संभाली और मुख्यमंत्री बनीं.


Related News