Follow us:

अब जनरल और प्लेटफार्म टिकट के लिए नहीं लगना होगा लाइन में, जानें कैसे ऑनलाइन करें बुक

नई दिल्‍ली। अनारक्षित रेलवे टिकट्स को खरीदने के लिए लोगों को लंबी लाइन में लगना होता था। इससे कई बार उनकी ट्रेन छूट जाती थी या कई बार वे बिना टिकट ही ट्रेन में सवार हो जाते थे। मगर, अब रेलवे ने एक नवंबर से नया नियम लागू कर दिया है। इसके बाद लोगों को टिकट लेने के लिए लाइन में नहीं लगना पड़ेगा। इससे उनका समय बचेगा साथ ही ट्रेन भी नहीं छूटेगी।

यात्रियों को काउंटर पर लाइन लगाकर अनारक्षित (जनरल) टिकट खरीदने की झंझट से छुटकारा दिलाने के लिए यूटीएस पेपरलेस मोबाइल टिकटिंग ऐप शुरू हो चुकी है। इससे यात्रियों को रेलवे टिकट काउंटर से कुछ दूर टिकट मिल सकेगा।

इस सुविधा का लाभ लेने के लिए एंड्राइड मोबाइल पर प्ले स्टोर से डाउनलोड और रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी करना होगी। यात्रियों को टिकट खरीदने के लिए ऐप को लॉग इन करने के बाद पेपरलेस स्क्रीन का चयन करना होगा। रेलवे स्टेशन से अधिकतम 5 किमी और कम से कम 20 मीटर की दूरी से टिकट बुक की जा सकती है। यात्रियों को जांच के दौरान अपने एंड्राइड मोबाइल पर टिकट दिखाकर पुष्टि करना अनिवार्य होगा।

नेट बैंकिंग व पेटीएम से भी कर सकते हैं भुगतान

आर-वॉलेट या यूपीआई, भीम ऐप, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, पेटीएम और मोबीक्विक से भी टिकट के लिए भुगतान किया जा सकता है। अनारक्षित टिकट काउंटर पर 100 से अधिकतम 10 हजार रुपए का रिचार्ज आर वालेट यात्री कर सकते हैं। पेपरलेस टिकट को बढ़ावा देने के लिए रेलवे प्रत्येक रिचार्ज पर 5 प्रतिशत अतिरिक्त बोनस देगा।

ऐसे करें ऐप डाउनलोड और टिकट बुकिंग

स्टेप-1 : पहले यात्री को ऐप यूटीएस ऑन मोबाइल में अपना पंजीयन करना होगा। पंजीयन के दौरान यात्री से संबंधित सामान्य जानकारी मांगी जाएगी। इसमें नाम, मोबाइल नंबर, शहर, अधिकतर यात्रा किए जाने वाला रूट, जन्म तारीख, परिचय पत्र के साथ पंजीयन होने के बाद इसको उपयोग करने वाले का नाम व पासवर्ड यात्री को मोबाइल में भेजा जाएगा।

स्टेप-2 : पंजीयन के बाद ऐप में तुरंत बुकिंग, सामान्य बुकिंग, प्लेटफॉर्म टिकट, सीजन टिकट आदि विभिन्ना विकल्प मिलेंगे। इसके अतिरिक्त यात्रियों को कैसलेस टिकट हिस्ट्री देखने का भी विकल्प होगा।

स्टेप-3 : मोबाइल से अनारक्षित टिकट खरीदने के लिए यात्री को एक आर वॉलेट बनाना होगा। पंजीयन के बाद इस वॉलेट में शून्य रुपए बैलेंस होगा। इसका रिचार्ज स्टेशन के बुकिंग ऑफिस में किया जा सकेगा। 100 से 5000 रुपए तक का रिचार्ज करवाया जा सकेगा। रिचार्ज निर्धारित वेब पोर्टल के जरिए या ऑनलाइन भी संभव होगा।

स्टेप- 4 : बुकिंग के विकल्प को सिलेक्ट करने के बाद यात्री से आरंभ तथा गंतव्य स्टेशन ड्रॉप डाउन मेनू से चुनना होगा। इसके बाद उस रूट की गाड़ी संख्या, यात्रा की श्रेणी तथा यात्रा करने वालों की संख्या डालकर आर वॉलेट से पेमेंट करना होगा। एक बार में अधिकतम 4 यात्रियों के लिए टिकट बुक किए जा सकेंगे।


Mi Turns 5 sale : Mi हुआ 5 साल का, सिर्फ पांच रुपए में दे रहा स्मार्टफोन और टीवी खरीदने का मौका
यह भी पढ़ें

स्टेप-5 : टिकट बुक करने के बाद एक बुकिंग आईडी बनेगी। इसका उपयोग कर ऑनलाइन के अलावा स्टेशन में उपलब्ध स्वचालित टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) से पेपर टिकट भी निकाल सकेंगे। सामान्य टिकट के अलावा मोबाइल एप में तुरंत बुकिंग का विकल्प भी होगा। यात्री अपने पहले बुक किए टिकट भी देख सकेंगे।

यह भी जानें ऐप के बारे में

- मासिक टिकट जारी किए जाने की तारीख के अगले दिन से वैध होंगे।

- एकल यात्रा टिकट, प्लेटफॉर्म टिकट जारी होंगे व सीजन टिकट जारी के साथ ही नवीनीकरण किया जा सकेगा।

Related News