Follow us:

Realiance Jio और Airtel के बीच शुरू हुई 'मिस कॉल' की जंग, लगा रहे ऐसे आरोप

नई दिल्ली। भारतीय टेलीकॉम मार्केट में रिलायंस जियो और एयरटेल के बीच पहेल भी कईं मुद्दों पर आरोप-प्रत्यारोप लग चुके हैं। पिछले मौकों की तरह इस बार भी टेलीकॉम सेक्टर की इन दो बड़ी कंपनियों एयरटेल और रिलायंस जियो के बीच मिस कॉल को लेकर जंग छिड़ गई है। इस जंग के कारण दोनों कंपनियां एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगा रही हैं।

जहां एयरटेल ने अपनी मुख्य प्रतिस्पर्धी जियो पर आरोप लगाया है कि वह फोन रिंग को जानबूझकर जल्दी डिस्कनेक्ट कर रही है, ताकि यह मिस कॉल हो जाए और ग्राहक फिर से कॉल करने के लिए मजबूर हो।

वहीं इस आरोप के बदले जियो ने भी एयरटेल पर वॉयस कॉल के लिए अधिक पैसे वसूलने और सिस्टम के साथ छेडछाड़ करने का आरोप लगाया है। इसके अलावा जियो ने कहा है कि उसने रिंग टाइम को 20 सेकेंड निर्धारित कर रखा है। इस रिंग टाइम को ग्लोबल ऑपरेटर फॉलो करते हैं।

जियो ने कहा है कि उसके नेटवर्क पर आने वाली एक-चौथाई फोन कॉल सिर्फ मिस कॉल होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि एयरटेल ने वॉयस कॉल की दरें काफी ज्यादा रखी हैं।

इस वजह से उसके उपभोक्ता जियो के नेटवर्क पर सिर्फ मिस कॉल करते हैं, बदले में जियो यूजर उन्हें कॉल बैक करते हैं। ऐसे में जियो इंटरकनेक्ट कॉल के लिए एयरटेल को रकम का भुगतान करती है। भारत में अभी इंटरकनेक्शन के लिए प्रति मिनट छह पैसे चुकाने होते हैं। ट्राई इसे खत्म करने पर विचार कर रहा है।

Related News