Follow us:

जानें क्या बदला : इस महीने से लोन हुए महंगे, जनरल रेल टिकटें हुए ऑनलाइन

नई दिल्ली। नवंबर से बैंकिंग और रेलवे जैसे क्षेत्रों में कई बड़े बदलाव हुए हैं। पहली तारीख से से जहां पंजाब नेशनल बैंक ने एमसीएलआर बढ़ा दी है वहीं, भारतीय रेलवे के जनरल और प्लेटफॉर्म टिकट ऑनलाइन खरीदने की सुविधा मिल गई है।

पीएनबी ने फंड की न्यूनतम लागत के हिसाब से ब्याज दर 0.05 प्रतिशत बढ़ा दी है। इसके कारण लोन कुछ महंगे हो गए हैं। 1 साल वाले कर्ज के लिए एमसीएलआर बढ़कर 8.50 प्रतिशत हो गई है। तीन साल वाले कर्ज के लिए नई ब्याज दर 8.7 प्रतिशत, 6 माह के लिए 8.45 प्रतिशत और तीन माह के लिए 8.25 प्रतिशत हो गई है। एक माह और ओवरनाइट कर्ज के लिए एमसीएलआर 8.15 प्रतिशत कर दी गई है।

ऑनलाइन बुक करें जनरल, प्लेटफॉर्म टिकटें

भारतीय रेलवे ने 1 नवंबर से देशभर में जनरल (अनारक्षित) और प्लेटफॉर्म टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग सुविधा शुरू की है। अब जनरल टिकट की बुकिंग भी यूटीएस एप के जरिए की जा सकती है। यह एप इस्तेमाल करने के लिए यात्रियों को स्टेशन से करीब 20-25 मीटर की दूरी पर होना जरूरी है और इसके जरिए एक बार में अधिकतम 4 टिकट खरीदे जा सकते हैं।

चुनावी बॉन्ड की बिक्री शुरू

भारतीय स्टेट बैंक के सभी ब्रांच से 1 नवंबर से चुनावी बॉन्ड स्कीम के छठे चरण की शुरुआत हो गई है, जो 10 नवंबर तक चलेगी। बॉन्ड जारी होने की तारीख से आगले 15 दिन तक मान्य होगा। यह अवधि खत्म होने के बाद जमा किए जाने वाले बॉन्ड के लिए किसी भी राजनीतिक दल को कोई भुगतान नहीं किया जाएगा। चुनावी बॉन्ड भारत का कोई भी नागरिक खरीद सकता है।

दिल्ली में ई-चालान की शुरुआत

दिल्ली सरकार ने 1 नवंबर से ई-चालान की सुविधा शुरू की है। इसके बाद अब तीन तरीकों से जुर्माना अदा किया जा सकता है। कैश के साथ कार्ड और ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर जाकर ई-चालान का ऑनलाइन पेमेंट किया जा सकता है। चालान कटने के बाद 20 दिन का वक्त मिलेगा। इस दौरान पेमेंट न होने पर चालान कोर्ट में भेज दिया जाएगा।