Follow us:

मंदसौर में मंत्री अर्चना चिटनीस की महर्षि वाल्मीकि पर टिप्पणी से हंगामा

मंदसौर। शहर के संजय गांधी उद्यान में आयोजित अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के अधिवेशन में सोमवार को प्रभारी मंत्री अर्चना चिटनीस द्वारा महर्षि वाल्मीकि पर किए एक संबोधन को लेकर वहां मौजूद लोगों ने हंगामा कर दिया। चिटनीस को भाषण के बीच में ही रोक दिया गया और समाज के लोग माफी मांगने की बात पर अड़ गए।

पहले तो प्रभारी मंत्री चिटनीस शीत लहर में भी पसीना पोंछती हुई वे अपनी बात को सही ठहराने की कोशिश करती रही। बाद में समाज के लोगों का विरोध बढ़ने पर उन्होंने अपनी कही हुई बात पर क्षमा भी मांग ली। हालांकि इसके बाद भी हंगामा नहीं रुका। वहां मौजूद लोग भी दो धड़े में बंट गए।

आक्रोशित लोगों को काफी मान-मनौव्वल कर मनाया गया। बाद में लोगों को शांत करने के लिए प्रभारी मंत्री ने अधिवेशन स्थल पर ही भोजन भी किया। और समाज के पदाधिकारियों के साथ वहीं रही। उनके साथ विधायक यशपालसिंह सिसौदिया और अन्य लोग भी समझाइश देने में जुटे रहे।

अधिवेशन में मौजूद लोगों में बाद में भी खासा आक्रोश देखा गया। दिल्ली से आए वाल्मीकि समाज के रिटायर्ड एडीशनल सेकेट्ररी ओपी शुक्ला ने कहा कि हमारे भगवान वाल्मीकि को लेकर कोई भी बात सहन नहीं की जाएगी।

इस बात की शिकायत दिल्ली में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को भी करेंगे कि भाजपा सरकार के मंत्री इस तरह अनर्गल बात कर रहे हैं। मंत्री अर्चना चिटनीस ने कहा कि क्षमा से देश जुड़ता है और समाज जुड़ता है और मेरी किसी बात से हमारे वाल्मीकि समाज के भाइयों को ठेस पहुंची है तो मैं क्षमा चाहती हूं।