Follow us:

भारत ने भी Boeing 737 Max पर लगाई रोक, आज 4 बजे बाद नहीं भरेंगे उड़ान

नई दिल्ली। पांच महीने में दो नए विमानों के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद दुनियाभर में बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों का खौफ छा गया है। भारत समेत दुनिया के 20 देशों ने अपने यहां इस विमान के उड़ान पर रोक लगा दी है। सात देशों ने बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों के अपने एयरस्पेस से गुजरने तक से रोक दिया है।

इसके बाद अब भारत में भी इन विमानों की उड़ान रोक दी गई है। भारत उड्डयन मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा है कि डीजीसीए ने बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों को खड़ा रखने के निर्देश दिए हैं। निजी क्षेत्र की दो एयरलाइंस स्पाइसजेट के पास 12 और जेट एयरवेज के पास 5 बोइंग 737 मैक्स 8 विमान हैं। नागरिक विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने एयरलाइंस की आपात बैठक बुलाई है। वहीं बुधवार सुबह डीजीसीए ने जानकारी दी है कि आज शाम 4 बजे तक सभी 8 बोइंग 737 मैक्स विमानों पर रोक लग जाएगी और वे उड़ान नहीं भर सकेंगे।

हालांकि अभी उसने इन विमानों को खड़ा करने के आदेश नहीं दिए हैं। इन घटनाओं से बोइंग के शेयरों में भारी गिरावट भी आ रही है। बोइंग विमानों की उड़ान पर रोक लगाने वाले देशों में अब ब्रिटेन का नाम भी शामिल हो गया है। ब्रिटेन ने बोइंग 737 मैक्स विमानों को खड़ा करने के निर्देश दिए हैं। ब्रिटेन ने अपने हवाई मार्ग से इन विमानों के गुजरने पर भी रोक लगा दी है। ब्रिटेन से पहले, फ्रांस, नॉर्वे, जर्मनी, आयरलैंड, आइसलैंड, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, ओमान, ब्राजील, अर्जेंटीना, मेक्सिको, दक्षिण कोरिया और वियतनाम ने भी बोइंग मैक्स विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है, जबकि चीन, इंडोनेशिया और इथोपिया ने पहले ही इन विमानों को खड़ा कर दिया था।

ब्रिटेन के साथ ही जर्मनी, मलेशिया, ओमान, सिंगापुर, फ्रांस और आयरलैंड ने अपने एयरस्पेस को भी बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों के लिए बंद कर दिया है। यानी अब ये विमान इन देशों के ऊपर से भी नहीं गुजरेंगे।

40 फीसद बोइंग विमान खड़े

इस समय दुनिया में विभिन्न एयरलाइंस में बोइंग 737 मैक्स विमानों की संख्या 371 है। इसमें से 40 फीसदी खड़े कर दिए गए हैं। अकेले चीन में ही 97 बोइंग मैक्स विमानों की उड़ान रोक दी गई है।

Related News