Follow us:

मैसेजिंग ऐप 'Sarahah' को लेकर खतरनाक क्रेज, हो चुके हैं 30 करोड़ डाउनलोड्स

नई दिल्ली। मोबाइल एप्लीकेशन की दुनिया में सऊदी अरब का एक नया ऐप 'सराहा' छाया हुआ है। जून में रिलीज हुए इस ऐप को एक महीने में ही करीब 30 करोड़ बार डाउनलोड किया गया है। सराहा एक अरबी शब्द है जिसका मतलब 'ईमानदारी' होता है।

इस ऐप के जरिये आप अपने प्रोफाइल से लिंक किसी भी व्यक्ति को मैसेज भेज सकते हैं, लेकिन इस ऐप की खासियत है कि मैसेज भेजने पर पहचान उजागर नहीं होती है। यानी मैसेज पाने वाले को पता नहीं चलेगा कि मैसेज किसने भेजा है। इस ऐप से आए मैसेज का रिप्लाई नहीं किया जा सकता है।

इस वजह से ही लोगों को इसका क्रेज हो गया है और एक ही महीने में तेजी से लोकप्रिय होता जा रहा है। गूगल प्ले स्टोर पर ही इसके डाउनलोड्स 50 लाख से भी ऊपर पहुंच गए हैं।

इस ऐप को बनाने की वजह के बारे में इसके फाउंडर अल-अबीदीन तौफिक ने कहा कि इसके जरिये लोग अब किसी से भी वो सब कह सकते हैं जिसे सामने कहने में हिचकिचाहट महसूस करते हैं। चूंकि मैसेज भेजने वाले का पता नहीं चलने के कारण कहीं इसका गलत इस्तेमाल न हो इसके बारे में तौफिक ने कहा कि इस ऐप में ब्लॉक या फिल्टर करने की सुविधा भी मौजूद है।

ऐसे करें डाउनलोड

- प्ले स्टोर या ऐप स्टोर में जाइए, ऐप 'Sarahah' डाउनलोड करें या वेबसाइट पर जाएं।

- अब सबसे पहले इसकी वेबसाइट या ऐप पर यूजर को रजिस्ट्रेशन करना होता है। इसके लिए ईमेल आईडी देनी होगी।

- रजिस्टर करने के बाद इसका लिंक फेसबुक, ट्विटर और स्नैपचैट जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट करने का ऑप्शन मिलता है।

- इस लिंक को पब्लिक कर सकते हैं या प्राइवेट मैसेज के जरिये किसी को भेज सकते हैं।

- इस लिंक को क्लिक करके कोई भी आपको मैसेज भेज सकता है, लेकिन भेजे गए शख्स की पहचान आपको नहीं पता चलेगी।

- लिंक के जरिये कोई आपको मैसेज भेजता है तो आपके सराहा ऐप में नोटिफिकेशन मिलेगा और आप यहां मैसेज पढ़ सकते हैं।