Follow us:

मुंबई कांग्रेस की कलह आई सामने, मिलिंद देवड़ा ने उर्मिला मातोंडकर के आरोपों का सर्मथन किया

Maharastra Assembly Election 2019: बॉलीवुड की मशहूर अदाकार उर्मिला मातोंडकर राजनीति में एंट्री के बाद 6 महीने में ही कांग्रेस को अलविदा कह चुकी है. उर्मिला के इस्तीफा देने के बाद मुंबई कांग्रेस की गुटबाजी खुलकर सामने आ गई है. मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा कहीं ना कहीं उर्मिला के आरोपों का समर्थन करते दिखे और उन्होंने कहा कि उत्तरी मुंबई की जवाबदेही तय होनी चाहिए.

मिलिंद देवड़ा ने ट्वीट कर उर्मिला के इस्तीफे पर अपनी राय रखी. उन्होंने कहा, ''उर्मिला ने लोकसभा चुनाव लड़ना तय किया और मैंने चुनाव प्रचार अभियान में उनका पूरा साथ दिया.'' इसके साथ ही देवड़ा अपने सहयोगियों पर निशाना साधने से भी नहीं चूके. उन्होंने आगे लिखा, ''मैंने तो उर्मिला का तब भी साथ दिया जब उन्हें वही लोग गिराने की कोशिश कर रहे थे जिन्होंने उनकी राजनीति में एंट्री करवाई. मैं पूरी तरह से उर्मिला से सहमत हूं मुंबई नॉर्थ कांग्रेस के नेताओं की जवाबदेही तय होनी चाहिए.''

उर्मिला ने लगाए गंभीर आरोप

उर्मिला मातोंडकर ने गुटबाजी के आरोप लगाते हुए कहा था कि मुंबई कांग्रेस बेहतरी के लिए काम नहीं करना चाहती. उर्मिला ने बयान जारी कर कहा था, ''16 मई को लिखे मेरे पत्र के बाद कोई एक्शन नहीं लिया गया. इसके बाद ही इस्तीफे की बात मेरे दिमाग में आई. मैंने वो पत्र तब के कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा को लिखा. इसके बाद मेरा गोपनीय पत्र लीक हो गया जो कि मेरे साथ धोखे जैसा था.''

उन्होंने आगे लिखा कि उनके बार-बार विरोध करने के बाद भी किसी भी सदस्य ने उनसे माफी नहीं मांगी. इसके साथ ही उर्मिला ने कहा कि मुंबई कांग्रेस के प्रमुख पदाधिकारी पार्टी की बेहतरी के लिए संगठन में बदलाव और परिवर्तन लाने में असमर्थ हैं.

बता दें कि उर्मिला मातोंडकर ने 27 मार्च 2019 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हुईं. बीते लोकसभा चुनाव में वह मुंबई उत्तर निर्वाचन क्षेत्र से चुनावी मैदान में उतरीं लेकिन बीजेपी के गोपाल शेट्टी के हाथों उन्हें हार का सामना करना पड़ा. बीजेपी के गोपाल शेट्टी ने चार लाख 65 हजार वोटों से हरा दिया था.

 

Related News