Follow us:

माल्या ने कर्ज चुकाने का ऑफर दे चली यह चालः ED

देश के बैंकों से करीब 9000 करोड़ रुपए का लोन लेकर फरार भगौड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कार्रवाई तेज कर दी है। ईडी ने माल्या का वह ऑफर ठुकरा दिया है, जिसमें माल्या ने कहा था कि उसकी संपत्ति बेचकर बैंकों का बकाया चुकाने का मौका दिया जाए। ईडी ने कहा कि यह 'प्ली बार्गेन' की कोशिश है।

PunjabKesari

माल्या के खिलाफ नहीं बरती जाएगी नरमी
प्ली बार्गेन का कानूनी लिहाज से मतलब यह है कि किसी पर आरोप हो, तो वह अदालती सुनवाई शुरु होने से पहले अपना अपराध स्वीकार करता है ताकि अभियोजन पक्ष उसके साथ कुछ नरमी बरते। माल्या का ऑफर इसलिए ठुकरा दिया गया है ताकि ब्रिटेन में उसके खिलाफ कानूनी मामला और पुख्ता हो सके। ईडी के अधिकारी ने कहा कि जिन एसेट्स को बेचने की बात वह कर रहा है, वे अब उसके नाम नहीं हैं। ईडी के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें कर्नाटक हाई कोर्ट में 22 जून 2018 को दाखिल उस एफिडेविट की कोई कॉपी नहीं मिली है, जिसे माल्या और यूबीएचएल ने दाखिल किया था। उसमें कहा था कि उपलब्ध एसेट्स लगभग 13900 करोड़ रुपए की हैं।

PunjabKesari

कर्ज चुकाने की हर संभव कोशिश कर रहे माल्या
बता दें कि कुछ दिन पहले माल्या ने कहा था कि वह बैंकों का कर्ज नहीं चुकाने वालों की ‘पहचान’ बन गए हैं और उनका नाम आते ही मानों लोगों का गुस्सा भड़क जाता है।माल्या ने कहा कि वह कर्ज चुकाने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं। उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को कर्ज के मामले में अपना पक्ष रखने के लिए 15 अप्रैल, 2016 को पत्र लिखा था, लेकिन दोनों की ओर से कोई जवाब नहीं मिला।