Follow us:

झाबुआ में बोले कैलाश- 'आप कांग्रेस हटाओ, मैं सरकार हटाने का काम करुंगा'

झाबुआ। जैसे जैसे झाबुआ उपचुनाव के लिए मतदान की तारीख नजदीक आ रही रही है, राजनैतिक दलों की धड़कने भी तेज हो चली है। हर कोई वोटरों को रिझाने एड़ी से चोटी तक का जोर लगा रहा है। नारो और वादों से जनता को अपनी ओर आकर्षित करने कवायद जारी है। बीजेपी-कांग्रेस के बड़े नेताओं ने भी मोर्चा संभाल लिया है और जीत का बड़ा दावा कर रहे है। इस बीच आज बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय झाबुआ पहुंचे और भाजपा उम्मीदवार भानू भूरिया के ​लिए जनता से वोट अपील की। इस दौरान कैलाश विजयवर्गीय ने बड़ा बयान दे देकर सियासत गरमा दी है|

दरअसल, झाबुआ पहुंचे कैलाश ने भव्य रोड़ शो किया। इस दौरान भारी भीड़ देखने को मिली। इस मौके पर कैलाश ने कहा कि जनता का उत्साह देखकर ख़ुशी हुई कि भाजपा उम्मीदवार भानु भूरिया जी के प्रति जबरदस्त जनसमर्थन जुट रहा है। इस दौरान उन्होंने जनता से अपील की आप झाबुआ से कांग्रेस को हटाने का काम कीजिए, मैं प्रदेश से कांग्रेस की सरकार हटाने का काम करूंगा। इशारों ही इशारों में फिर कैलाश ने सरकार गिराने की बात कही है। चुनाव से पहले कैलाश के बयान के कई मायने निकाले जा रहे है। कैलाश के इस बयान से सियासी गलियारों में खलबली मच गई है। वही कांग्रेस में भी हलचल तेज हो चली है।

इस दौरान उन्होंने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार ने जनता के साथ वादा खिलाफी की है। सरकार ने मध्यप्रदेश में बिजली बिल हाफ करने का वादा किया था, लेकिन यहां ​तो बिजली ही हाफ हो गई है। इस दौरान धार के सांसद छतरसिंह दरबार और झाबुआ के कई स्थानीय भाजपा नेता भी इस प्रचार रैली में शामिल हुए। झाबुआ में रोड़ शो के दौरान अमर शहीद चंद्रशेखर आज़ाद एवं पूर्व सांसद दिलीप सिंह भूरिया की प्रतिमा पर माल्यार्पण भी किया।

इससे पहले सीएम कमलनाथ ने यहां बड़ा रोड शो किया था।जिसमें उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया की जीत का बड़ा दावा किया था। कमलनाथ ने कहा था कि हर चुनाव चुनौती होता है, लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि हम झाबुआ उपचुनाव में बड़े अंतर से जीत दर्ज कराएंगे। मैं झाबुआ का नया इतिहास बनाऊंगा, लेकिन उससे पहले आप लोग चुनाव में इतिहास बनाइए। आप मुझे मौका दीजिए जो बीजेपी में 15 साल में नहीं हुआ वो मैं 15 महीने में करके दूंगा और आज कैलाश यहां पहुंचे और उन्होंने कांग्रेस को साफ करने की बात कही।

गौरतलब है कि भाजपा विधायक गुमान सिंह डामोर ने सांसद बनने के बाद इस सीट से इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद से यह सीट खाली थी। डामोर ने साल 2019 में हुए रतलाम-झाबुआ लोकसभा सीट पर कांतिलाल भूरिया को हराया था जबकि 2018 में झाबुआ विधानसभा सीट पर कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया को हराया था। झाबुआ विधानसभा सीट पर 21 अक्टूबर को उपचुनाव होगा और मतगणना 24 अक्टूबर को होगी।कांग्रेस ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया और बीजेपी ने भानू भूरिया को उम्मीदवार बनाया है। चुनाव से पहले बीजेपी कांग्रेस दोनों ही दल जीत का बड़ा दावा कर रहे है। कमलनाथ के मंत्रियों और विधायकों ने वहा डेरा डाला हुआ है, वही बीजेपी भी अपनी जमीन मजबूत करने में जुटी है।

 

Related News