Follow us:

साध्वी निरंजन ज्योति का ओवैसी पर हमला कहा बताएं बाबर के बेटे हैं या हिंदुस्तान के

फतेहपुर। राम मंदिर मामला अदालत में होने के बावजूद नेताओं में जुबानी जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। एआइएमआइएम नेता और सांसद असदुद्दीन ओवैसी के बाबरी मस्जिद को लेकर दिए गए बयान पर केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने काफी तल्ख टिप्पणी की है और ओवैसी की ओर सवाल दागते हुए कहा है कि ' वह बताएं कि वह हिंदुस्तान के बेटे हैं या नहीं।'

बाबर तो देश को लूटने के लिए आया था-

लोक निर्माण विभाग के डाक बंगले में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि ओवैसी कह रहे हैं कि राम मंदिर नहीं बाबरी मस्जिद बनेगी, यह कतई मान्य नहीं है। वह लुटेरे और आतंकी इतिहास वाले बाबर की बात न करें और न ही बाबरी मस्जिद के पक्षधर बनने की हिमाकत करें।

प्रधानमंत्री पर जातिसूचक शब्दों के प्रयोग पर सांसद नरेश अग्रवाल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पिछड़े समाज का व्यक्ति पीएम बन गया है, यह बात उन्हें हजम नहीं हो रही। जातिसूचक शब्द बोलकर प्रधानमंत्री को अपमानित करना नरेश अग्रवाल की ओछी मानसिकता को दर्शा रहा है। यह बयान उनकी हताशा का परिचायक है।

असदुद्दीन ओवैसी ने बाबरी मस्जिद पर दिया था बयान-

बता दें कि मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि बाबरी मस्जिद मामले में किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की एक बैठक के दौरान औवेसी ने कहा था कि 'बोर्ड ट्रिपल तलाक हो या फिर बाबरी मस्जिद दोनों ही मुद्दों समझौता न करने के मुद्दे पर ही टिका रहा है। एक बार यदि मस्जिद बन गई तो वह हमेशा मस्जिद ही रहेगी। बाबरी मस्जिद मामले में किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा।'

राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई-

गौरतलब है कि गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवादित राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई हुई थी। सुनवाई की शुरुआत करते हुए चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा था कि वह इस मामले को आस्था नहीं बल्कि जमीन विवाद के रूप में ही देखेंगे। इसके बाद कोर्ट ने मामले की सुनवाई को 14 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया है।