Follow us:

आपके व्हॉट्सएप अकाउंट को हैक करने के लिए भेजा जा रहा है फेक वेरिफिकेशन कोड, ऐसे बचें

नई दिल्ली: इंटरनेट पर धोखा खाना अब एक आम बात हो गई है जहां आपके पर्सनल डेटा और अकाउंट के साथ छेड़छाड़ किया जाता है तो वहीं आपके अकाउंट को भी हैक कर लिया जाता है. लेकिन अब स्कैम करने वाले लोग व्हॉट्सएप यूजर्स को भी टारगेट कर रहे हैं. कई यूजर्स अभी तक इस बात की शिकायत कर चुके हैं कि जब उन्हें स्कैमर्स ने टारगेट किया तो उनका अकाउंट खुद ब खुद लॉगआउट हो गया. ऐसा पहली बार हो रहा है जहां व्हॉट्सएप पर भी अकाउंट के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आ रहा है.


टेकरडार की एक रिपोर्ट के अनुसार ऐसा वेबसाइट लिंक पर क्लिक करने से हो रहा है. ऐसा करने के लिए स्कैमर्स सबसे पहले एक फेक वेरिफिकेशन मैसेज भेजते हैं. इसके बाद यूजर्स को लगता है कि उन्हें ये मैसेज व्हॉट्सएप ने सिक्योरिटी को लेकर भेजा है और उसके बाद उसपर क्लिक कर देते हैं और स्कैमर्स की जाल में फंस जाते हैं.

 

बता दें कि वेरिफिकेशन एसएमएस वेरिफिकेशन कोड के साथ नहीं आता है. इसके अलावा लिंक में एक ऐसा कोड होता है जो वेबसाइट से जुड़ा होता है. ऐसे में कई लोग ऐसा सोचते हैं कि उनके व्हॉट्सएप को URL की मदद से कंट्रोल किया जा रहा है. इसके लिए यूजर्स को ये बात समझनी होगी कि व्हॉट्सएप सेटअप के लिए कोई भी वेरिफिकेशन कोड को मंगवा सकता है.

वेरिफिकेशन कोड मिलने पर व्हॉट्सएप यूजर्स से चेक करता है कि ये यूजर द्वारा ही रिक्वेस्ट किया गया है या किसी और के जरिए. अगर मामला स्कैम का हुआ तो स्कैमर्स और दूसरे लोग URL का इस्तेमाल कर आपकी व्हॉट्सएप की पहचान करते हैं. इसका मतलब ये हुआ कि अगर आपने लिंक खोला है तो इससे ये व्हॉट्सएप को पता चल जाएगा कि किसने उस लिंक को ओपन किया है. बता दें कि इस स्कैम के बारे में गल्फ न्यूज ने जानकारी दी है. वहीं सभी यूजर्स को ये कहा गया है कि वो किसी भी तरह के लिंक पर क्लिक न करें.