Follow us:

पाकिस्‍तान में हिंदू छात्रा नमृता चंदानी की हत्या की होगी न्यायिक जांच, सिंध प्रांत सरकार ने दिया आदेश

कराची। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में हिदू छात्रा नमृता चंदानी की हत्या के बाद व्यापक विरोध प्रदर्शन के बाद प्रांतीय सरकार ने बुधवार को घटना की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। तीस दिन के भीतर जांच पूरी करने और राज्य के गृह मंत्रालय को इसकी रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।

यह है पूरा मामला

जिले के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में स्नातक की छात्रा नमृता सोमवार को हॉस्टल के कमरे में संदिग्ध हालत में मृत पाई गई थीं। उनके गले में कपड़ा बंधा था। नमृता घोटकी की रहने वाली थीं। उनकी हत्या से एक दिन पहले ही घोटकी में मंदिर में तोड़फोड़ के लिए कइयों पर मुकदमा दर्ज किया गया था। मेडिकल सलाहकार विशाल ने कहा, 'यह आत्महत्या नहीं है, उसके निशान अलग होते हैं। मुझे उसकी गर्दन पर केबल के निशान मिले हैं। जबकि दोस्तों का कहना है कि जब उन्होंने शव देखा तो गर्दन पर दुपट्टा बंधा था।'

सिंध प्रांत में धड़ल्‍ले से होता है अपहरण और धर्मांतरण

सिंध प्रांत से अक्सर हिदू लड़कियों के अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन के मामले सामने आते रहते हैं। अमेरिका स्थित सिंधी फाउंडेशन के मुताबिक पाकिस्तान में हर साल 12 से 28 वर्ष की करीब एक हजार हिंंदू युवतियों को अगवा कर उनका जबरन धर्मांतरण कराया जाता है। पाकिस्तान के मानवाधिकार संगठन के अनुसार जनवरी, 2004 से मई, 2018 के बीच सिंधी लड़कियों के अपहरण के 7,430 मामले सामने आए थे।

संसद में उठा सुरक्षा का मामला

सिंध प्रांत में अल्पसंख्यकों खासकर हिदुओं की सुरक्षा का मामला मंगलवार को मुल्क की संसद में भी उठा। विपक्षी दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के नेता ख्वाजा आसिफ ने संसद मे कहा, 'घोटकी की घटना से हिंंदू समुदाय भयभीत और चिंतित है। उनकी सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है।

 

Related News