Follow us:

WhatsApp ने जारी किया धांसू फीचर, अब बिना अनुमति कोई नहीं कर पाएगा ग्रुप में शामिल

मल्टीमीडिया डेस्क। मोबाइल नेटवर्किंग साइट WhatsApp इस साल एक के बाद एक शानदार फीचर्स लेकर आई है और इसी कड़ी में अब इसने अपना एक और बेहतरीन अपडेट जारी कर दिया है। दरअसल, फरवरी में खबर आई थी कि व्हाट्सएप जल्द Group Invitation Feature लेकर आ रही है। इस फीचर के आने के बाद कोई भी यूजर को उसकी मंजूरी के बिना व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड नहीं कर सकेगा।

लगभग एक महीने बाद आखिरकार कंपनी ने अपना यह फीचर जारी कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मोबाइल मैंसेजिंग ऐप Group Invitation Feature जारी कर दिया है। व्हाट्सएप द्वारा यह फीचर लोकसभा चुनाव से ठीक पहले जारी किया गया है जिसके बाद चुनावों में शेयर की जाने वाली फर्जी खबरों को लेकर भी लगाम लग सकेगी।

फेसबुक के मालिकाना हक वाली कंपनी द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि व्हाट्सएप ग्रुप लगातार पहले की तरह लोगों को उनके दोस्तों, परिवारों से जोड़ते रहेंगे। इन ग्रुप्स में कईं महत्वपूर्ण चीजें होती हैं और इसलिए यूजर्स इस पर और नियंत्रण की मांग कर रहे थे। इसके बाद मैसेजिंग ऐप ने अपने प्राइवेसी सेटिंग में नया फीचर जोड़ा है जो यूजर को एक इनवाइट सिस्टम के माध्यम से तय करने में मदद करेगा कि कौन उसे ग्रुप में जोड़ सकता है और कौन नहीं।

अब तक यूजर्स को बिना उनकी मर्जी के किसी भी ग्रुप में जोड़ लिया जाता था। हालांकि, उनके पास यह सुविधा थी कि वो ग्रुप में शामिल किए जाने के बाद इससे बाहर हो सकते थे। लेकिन अब इस फीचर आने के बाद यूजर्स आसानी से तय कर पाएंगे कि उन्हें ग्रुप में जोड़ा जाया या नहीं।

यूं करें इस फीचर को एक्टिवेट

- WhatsApp के इस नए फीचर को एक्टिवेट करने के लिए यूजर को सेटिंग्स में जाना होगा।

- यहां उसे तीन विकल्पों 'nobody', 'my contacts' या फिर everyone में से विकल्प चुनना होगा।

- nobody चुनने पर यूजर को कोई भी किसी भी ग्रुप में शामिल नहीं कर सकेगा और उसे किसी भी ग्रुप में शामिल करने से पहले अनुमित लेनी होगी।

- वहीं My Contacts को चुनने पर यूजर को उसके कॉन्टेक्ट लिस्ट में शामिल लोग उसे किसी भी ग्रुप में जोड़ सकेंगे

- जबकि तीसरा विकल्प चुनने पर उसे कोई भी ग्रुप में जोड़ सकेगा।

- यूजर को ग्रुप में शामिल करने वाले को उसे मैसेज भेजना होगा जो की केवल यूजर को मिलेगा। यूजर के पास तीन दिन होंगे कि वो इस मैसेज पर प्रतिक्रिया दे सके। अगर वो इसे मंजूर नहीं करता तो यह मैसेज खुद एक्सपायर हो जाएगा।

- व्हाट्सएप के इस नए फीचर के चलते यूजर को ज्यादा प्राइवेसी और ग्रुप्स पर कंट्रोल करने की ताकत मिलेगी।