Follow us:

बंगले में तोड़फोड़ से बिफरे गवर्नर, सीएम योगी आदित्यनाथ से कहा, करो अखिलेश यादव पर कार्रवाई

नई दिल्ली। लखनऊ के चार विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी बंगले में तोड़फोड़ पर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक काफी नाराज दिख रहे हैं। इस बारे में राम नाईक ने सीएम योगी आदित्यनाथ को एक चिट्ठी लिखी है जिसमें उन्होंने योगी से अखिलेश के घर में सरकारी प्रॉपर्टी को हुए नुकसान की जांच कराने को कहा है। राज्यपाल ने चिट्ठी में लिखा है कि मीडिया में सरकारी घर खाली करने से पहले तोड़फोड़ की रिपोर्ट से मैं दुखी हूं। जनता के टैक्स के पैसों से ये बना था। इसे बर्बाद करने पर कार्रवाई होनी चाहिए।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर यूपी के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी बंगला खाली करना पड़ा था। इसी के तहत अखिलेश यादव ने भी अपना बंगला खाली किया है लेकिन आरोप है कि बंगला खाली करने से पहले अखिलेश यादव ने बंगले को उजाड़ कर रख दिया है। मीडिया में आई तस्वीरें इस आरोप की तस्दीक करती हैं। तस्वीरों में देखा जा सकता है कि किस तरह बंगले में तोड़फोड़ की गई। बंगले से एसी उखाड़ लिए गए हैं, जहां-तहां से तार खींच लिए गए हैं तो बाहर लॉन में बने स्वीमिंग पुल को पूरी तरह से भर दिया गया है।

मीडिया में जब ये खबर चली तो अखिलेश ने कहा कि वो नुकसान की भरपाई कर देंगे। दरअसल, मीडिया में खबर आने के बाद राज्यपाल राम नाईक ने राज भवन में राज्य संपत्ति विभाग के अफसरों की मीटिंग बुलाई थी। उन्होंने उन सभी मकानों के बारे में रिपोर्ट मांगी जिनको पांच पूर्व मुख्यमंत्रियों ने खाली किया है। इनमें अखिलेश यादव के घर में हुई तोड़फोड़ को लेकर राज्यपाल काफी नाराज थे।

बताया जा रहा है कि अखिलेश के पूरे घर की वीडियोग्राफी कराई गई है। वहां कौन-कौन से सरकारी सामान लगे थे और क्या-क्या निकाल लिए गए हैं इसकी एक लिस्ट तैयार हो रही है। जांच पूरी हो जाने के बाद कानूनी राय ली जाएगी जिसके बाद अखिलेश को रिकवरी नोटिस भेजी जाएगी। सरकारी बंगले को खाली करने से पहले वहां तोड़फोड़ करने को लेकर सोशल मीडिया में भी अखिलेश यादव का खूब मजाक उड़ रहा है।